मादक पदार्थ की तस्करी करने वाला बदमाश पुलिस के हत्थे चढ़ा

0
58
सांकेतिक तस्वीर : सोर्स गूगल

नागदा न्यूज : मादक पदार्थ की तस्करी करने वाला बदमाश पुलिस के हत्थे चढ़ा । Nagda News: Drug smuggling crook caught by police

नागदा। मादक पदार्थ की तस्करी कर शहर के युवाओं के भविष्य उजाडने तथा कई सभ्रांत परिवार के बच्चों की जिंदगी नरक बनाने वाले बदमाश को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इस इनामी बदमाश युनुस उर्फ कालू डागा पिता इलियाज उम्र 32 वर्ष निवासी बालाराम की कुटिया को पकडने में पुलिस को लगभग 70 दिन का समय लग गया।

गौरतलब है कि बदमाश कालू डागा पर एसपी उज्जैन ने पांच हजार रूपए का इनाम भी घोषित कर रखा था। कालू डागा पिछले कई दिनो से शहर में खुले आम  मादक पदार्थो स्मैक, ब्राउन शुगर, गांजा एवं अन्य की तस्करी एवं बिक्री करता था। इस गौरखधंधे में कालू डागा के कई ओर भी साथी है अब देखना है कि क्या पुलिस इन लोगों तक पहुंच पाती है या नही?

सांकेतिक तस्वीर : सोर्स गूगल

दो माह से खुलेआम घूम रहा था शहर में

यूं तो कालू डागा शहर में पिछले कई दिनों से अवैध मादक पदार्थ का व्यापार रेलवे स्टेशन के समीप राजीव कॉलोनी में खुलेआम कर रहा था। कई बार इसकी शिकायत भी पुलिस प्रशासन को की गई लेकिन प्रशासन ने कोई ध्यान नहीं दिया। गत  18 जून को मुखबिर की सूचना पर मंडी पुलिस ने  दशहरा मैदान नागदा के पास से टाटा इंडिगो गाडी में से स्मैक पकडी गई थी जिसमें आरोपी जुबेर, शहनवाज और नाहर सिंह को गिरफ्तार किया गया था।

पूछताछ के दौरान कालू डागा का नाम भी सामने आया था ओर पुलिस ने कालू डागा के खिलाफ भी प्रकरण दर्ज कर लिया था लेकिन तब से वह पुलिस की गिरफ्त में नहीं आ पा रहा था। सूत्रों के मुताबिक कालू डागा ने इस दौरान शहर में अपने क्षेत्र में खुलेआम घुम रहा था। लेकिन पुलिस उस तक पहुंच नहीं पा रही थी।

कैसे पकड़ाया आरोपी

पुलिस ने बताया कि मुखबीर द्वारा सूचना प्राप्त हुई थी कि फरार आरोपी इंदौर में निवासरत है जिसकी गिरतारी हेतु वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में टीम इंदौर भेजी गई 2 दिनों तक लगातार नागदा पुलिस द्वारा इंदौर में डेरा डाले हुए थी।  इंदौर में मरीमाता,राउ, वाणगंगा थाना क्षेत्र, किशनगंज थाना क्षेत्र, लसुडिया, आजादनगर व इंदौर के विभिन्न स्थानो पर आरोपी युनुस उर्फ कालू डागा की तलाश में दबिश दी गई लेकिन यहां भी पुलिस को सफलता नहीं मिली। पुलिस इंदौर से बैरंग लौट आई। मुखबिर की सूचना पर पुलिस मंगलवार सुबह अलर्ट हुई और जूना नागदा से चंबल मार्ग की ओर जा रहे आरोपी कालू डागा को गिरफ्तार किया जिसे न्यायालय पेश किया गया।

इनकी रही सराहनीय भूमिका

आरोपी की गिरतारी में सराहनीय भूमिका टीआई नागदा श्यामचन्द्र शर्मा उनि होतमसिंह बघेल प्र.आर विनोद माली, सुनील बैस, आरक्षक सुखदेव की रही।

कई युवाओं को बनाया नशे का आदी

कालू डागा पर नागदा थाने पर तीन अपराध दर्ज है। इसमें एक व्यापारी पर जानलेवा हमला करना का प्रकरण भी शामिल है। कालू डागा अभी तक शहर के लगभग 100 से अधिक युवाओं को नशे के जाल में फंसा चुका है। डागा शहर के संभ्रात परिवार के बच्चे तथा एसे युवक को अपने परिवार में इकलोता चिराग है ऐसे युवाओं को अपनी गिरफ्त में लेकर उनको नशे का आदी बनाता है। पहले तो उनको अपने साथियों के माध्यम से ही फ्री में नशा करवाता है बाद में जब वह नशे के आदी हो जाते है तो उनसे रूपए हेडता है।

युवा जब रूपए नहीं दे पाते है तो उनके माध्यम से जेब कटौती, घर में गहने चोरी आदी अवैध कार्य करवाता ओर यहीं युवा जो भी वस्तु चोरी कर लाते उनको गिरवी भी कालू डागा ही अपने साथियों के पास रखवाता था। गौरतलब है कि चंबल तट के समीप संचालित होने वाली सब्जी मंडी में 18 जून तक प्रतिदिन 3 से 4 लोगों की जेब कट रही थी। इन सबके मोबाईल चोरी हो रही थी लेकिन जिस दिन से पुलिस ने कालू डागा पर प्रकरण दर्ज किया उसके बाद से इस अपराध पर अंकुश लग गया। जिससे यह सिध्द होता है कि इस तरह के अपराध में कालू डागा का हाथ था। कालू डागा उन युवाओं को नशे का आदी बनाता है जिनकी उम्र 20 से 30 वर्ष के मध्य रहती है।

पुलिस सख्ती से करें पूछताछ

अवैध मादक पदार्थ के गौरखधंधे में शहर में कई लोग ऐसे है जो कालू डागा के साथी है चुंकि यह गौरखधंधा अभी भी बंद नहीं हुआ है हांलाकि व्यापार कमजोर जरूर हुआ है। पुलिस यदि सख्ती से कालू डागा से पूछताछ करें तो सब्जी मंडी में चोरी हुए मोबाईल के प्रकरण में पुलिस को सफलता मिल सकती है। साथ ही इस नशे के गौरखधंधे को जड़ से नष्ट भी किया जा सकता है। बताया जा रहा है कि कालू डागा मादक पदार्थ बडावदा ओर घिनोदा से लाता था।

इसे भी पढ़े :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here