खाचरौद में दिनदहाड़े कृषि व्यापारी के घर में घुसे नकाबपाेश, वृद्धा के गले पर रखी गुप्ती

 खाचरौद में दिनदहाड़े कृषि व्यापारी के घर में घुसे नकाबपाेश, वृद्धा के गले पर रखी गुप्ती

नकाब पोश बदमाश- सोर्स सोशल मीडिया.

खाचराैद खाचरौद नगर में बदमाशों के हौंसले किस तरह बुलंद हो चुके हैं, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सोमवार को दिनदहाड़े दो नकाबपोश बदमाशों ने शहर के एक बड़े कृषि व्यापारी के घर में घुसकर लूट की नाकाम कोशिश की।

व्यापारी के घर में बदमाशों ने गुप्ती की नोक पर वारदात को अंजाम देने का असफल प्रयास किया लेकिन महिलाओं द्वारा हल्ला मचाने और चिल्लाने के बाद बदमाश 50 सेकंड में ही भाग निकले। घटना के बाद पूरे नगर में सनसनी मच गई। यह घटना सीसीटीवी में भी कैद हो गई, जिसमें नकाबपोश बदमाश भी नजर आ रहे हैं। खास बात यह है कि 10 महीने में इस तरह की यह दूसरी वारदात है।

masked-in-the-house-of-an-agricultural-trader-in-broad-daylight-a-secret-placed-on-the-neck-of-an-old-woman
नकाब पोश बदमाश- सोर्स सोशल मीडिया.

10 महीने पहले भी एक व्यापारी के घर में घुसकर चाकू की नाेक पर लूट की वारदात हुई थी। जिसके भी आरोपी अभी तक गिरफ्तार नहीं हाे पाए हैं। फिलहाल पुलिस बदमाशों की जानकारी जुटाने और धरपकड़ में जुट गई है। इधर पीड़ित कृषि व्यापारी ने बदमाशों को पकड़ने पर 51 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है।

पहले आकर लाैटे, दूसरी बार में घर में घुसे नकाबपोश

विक्रम मार्ग निवासी दिलीप बुपक्या कृषि पंप, खाद आदि वस्तुओं के बड़े विक्रेता हैं। साेमवार सुबह 10.10 बजे उनके घर पर किसी वारदात काे अंजाम देने की दाे बदमाशाें ने काेशिश की। बदमाश पहले आए ताे पड़ोस का युवक उन्हें बाहर नजर आया।

जिस पर वह लाैट गए। 45 सेकंड बाद ही वह पुनः लौटे और नकाबपाेश युवक सीधे बुपक्या के घर में घुस गया। यहां उनकी माता ताराबाई बैठी हुई थीं। एक बदमाश ने उनका गला पकड़ा और गुप्ती निकाल ली। दूसरा बदमाश आगे का दरवाजा लगाने लगा, इस पर ताराबाई चिल्लाईं ताे खाना बनाने वाली बाई मनोरमा उपाध्याय आई और बहू रानी बुपक्या को आवाज लगाकर नीचे बुलाया।

masked-in-the-house-of-an-agricultural-trader-in-broad-daylight-a-secret-placed-on-the-neck-of-an-old-woman
घटना के बाद डरी हुई महिलाएं- सोशल मीडिया

रानी नीचे आतीं, उसके पहले ही शोर-शराबा हाेने पर नकाबपोश बिना कुछ बोले ही घर से भाग निकले। यह घटना मात्र 50 सेकंड में ही हाे गई। पड़ोसी के यहां लगे सीसीटीवी में नकाबपोश भी कैद हो गए।

लूट या अन्य वारदात के लिए घुसे थे बदमाश

नकाबपोश बदमाश घर में लूट या अन्य किसी इरादे से घुसे थे, यह अभी तक साफ नहीं हाे पाया है। वजह बदमाशाें ने घर में घुसने के बाद कुछ बाेला ही नहीं लेकिन वारदात से शहर के व्यापारियांे व घराें में रहने वाली महिलाओं में जरूर भय का माहाैल बन गया है।

शहर में जब यह घटना हुई, तब एसडीओपी अरविंद सिंह और थाना प्रभारी रवींद्र सिंह बारिया भी शहर में नहीं थे। बॉक्स पुलिस का मुखबिर तंत्र फेल, व्यापारी ने घोषित किया 51 हजार रुपए का इनाम वारदात को लेकर पुलिस भी गंभीर है लेकिन बदमाशों द्वारा इस तरह दिनदहाड़े किए गए प्रयास ने पुलिस के फेल होते मुखबिर तंत्र की पोल भी खोल दी।

masked-in-the-house-of-an-agricultural-trader-in-broad-daylight-a-secret-placed-on-the-neck-of-an-old-woman
घटना की जानकारी लेते पुलिस जवान.

हालांकि अब पुलिस मुखबिर तंत्र काे मजबूत कर बदमाशाें काे पहचानने की काेशिश कर रही है। वहीं बुपक्या ने बदमाशाें काे पकड़ने पर 51 रुपए का इनाम देने की घाेषणा की है। बुपक्या ने बताया कि उनके घर पर तो कोई जनधन हानि नहीं हुई है लेकिन नकाबपोश बदमाशाें का पकड़ा जाना जरूरी है, नहीं तो वह आगे अन्य किसी परिवार के साथ घटना काे अंजाम दे सकते हैं।

पेशेवर नहीं थे बदमाश, टोपी भी छोड़कर भागे

इधर घटना के बाद पुलिस अब बदमाशों की तफ्तीश में जुटी है। थाना प्रभारी रवींद्र सिंह बारिया ने बताया प्रारंभिक जानकारियों के आधार पर यह बात सामने आई है कि बदमाश पेशेवर नहीं थे। इसलिए वे हल्ला होते ही घबरा कर भाग गए। हड़बड़ी में वे अपनी कैप (टोपी) भी छोड़कर भाग निकले। संदिग्धों की सूची तैयार कर बदमाशों की धरपकड़ के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। जल्द ही बदमाश पुलिस की गिरफ्त में होंगे।

इसे भी जरूर पढ़े :

KAMLESH VERMA

https://newsmug.in

बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश दैनिक भास्कर और राजस्थान पत्रिका अखबार में सिटी रिपोर्टर पद पर कार्य चुके हैं.

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *