महाशिवरात्रि 2022 के दिन कौन सा काम नहीं करना चाहिए? Mahashivratri 2022 Per Kya Kare

0
338
mahashivaratri-2022-k-din-koun-sa-kam-nahi-karna-chahiye
महाशिवरात्रि के दिन कौन सा काम नहीं करना चाहिए?

महाशिवरात्रि 2022 पर क्या करें और क्या न करें यह जानकर आप महाशिवरात्रि ( Mahashivratri 2022 ) पर्व का पूर्ण फल प्राप्त कर सकते हैं, धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन भगवान शिव (Lord Shiva) और माता पार्वती (Goddess Parvati) दुनिया में भ्रमण कर भक्तों की परेशानी के बारें में जानते हैं. तो चलिए लेख के जरिए जानते हैं महाशिवरात्रि 2022 के दिन कौन सा काम नहीं करना चाहिए? Mahashivratri 2022 Per Kya Kare. 

लेख में यह भी जानेंगे कि, महाशिवरात्रि पर्व पर क्या करें और क्या न करें. हम आशा करते है कि, लेख को पूरा पढ़कर  आप भगवान शिव और माता पार्वती का पूर्ण आर्शीवाद प्राप्त कर सकेंगे. महाशिवरात्रि 2022 पर्व (Mahashivratri 2022 Festival) साल 2022 में 01 मार्च, मंगलवार को हैं. शास्त्रों में उल्लेख मिलता है कि, महाशिवरात्रि को भगवान शिव और माता पार्वती के विवाह संपन्न हुआ था. तो चलिए जानते हैं महाशिवरात्रि पर क्या करें और क्या न करें.

mahashivaratri-2022-k-din-koun-sa-kam-nahi-karna-chahiye
महाशिवरात्रि के दिन कौन सा काम नहीं करना चाहिए?

महाशिवरात्रि 2022 के दिन कौन सा काम करना चाहिए? (Mahashivratri 2022 Per Kya Kare)

  • महाशिवरात्रि (Mahashivratri 2022) के दिन भगवान शिव का पूजन करते समय (Lord Shiva Puja) सफेद या लाल रंग के कपड़े पहनकर ही बैठे. भरसक प्रयास रहे हैं कि इस दिन पूजा में बिना सीले वस्त्र धारण करें।
  • पर्व के दिन सूर्योदय के पूर्व उठकर शिवलिंग का पूजन अवश्य करें. कारण शिवलिंग का पूजन करने से ही व्रत सफल होता है.ध्यान रहे कि पूजा पूजा प्रदोष काल में ही करें. पौराणिक मान्यता है कि, इस काल में स्वंय भगवान शिव शिवलिंग पर विराजित रहते हैं.
  • भगवान शिव काे पूजन में सफेद फूल अर्पित करें. सफेद फूलों से भगवान शिव का पूजन करना अत्यंत ही लाभप्रद माना जाता है.
  • पूजन के दौरान भगवान शिव के साथ माता पार्वती का भी स्मरण करें. ऐसा करने से आपको दोनों का आर्शीवाद मिलेगा. बेलपत्र पर चंदन से ऊं नम: शिवाय लिखकर ही भगवान शिव को अर्पित करें. 
  • पूजा के दौरान शिव को अक्षत अवश्य ही अर्पित करें.
  • महाशिवरात्रि के एक दिन पूर्व रात में भगवान शिव का जागरण अवश्य करना चाहिए. जिससे आपको महाशिवरात्रि का पूर्ण फल प्राप्त हो सके.
  • इस दिन भगवान शिव की पूजा के पूर्व नंदी की पूजा अवश्य करनी चाहिए नहीं तो आपको भगवान शिव की पूजा का फल प्राप्त नहीं होगा.
  • इस दिन बैल को हरा चारा खिलाना चाहिए क्योंकि बैल को नंदी का रूप माना जाता है. नंदी भगवान शिव को बेहद ही प्रिय हैं.

महाशिवरात्रि 2022 के दिन कौन सा काम नहीं करना चाहिए (Mahashivratri 2022 Per Kya Na Kare)

  • महाशिवरात्रि पर्व के दिन काले या सिले हुए वस्त्र ना पहनें. क्योंकि काले रंग के वस्त्र धारण करना इस दिन अशुभ माना जाता है.
  • महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग पर चढ़ाई गई चीजों का बिल्कुल सेवन न करें. कारण ऐसा करना बेहद अशुभ माना जाता है.
  • यदि आप शिवलिंग पर जल चढ़ा रहे हैं तो शंख से जल ना चढ़ाएं. भगवान भोलेनाथ को तांबे या पीतल के लोटे से ही जल अर्पित करें.
  • महाशिवरात्रि पर भगवान शिव की पूजा में तुलसी का प्रयोग बिल्कुल भी न करें. कारण ऐसा करना वर्जित माना जाता है.
  • भगवान शिव की पूजा में केतकी और चंपा के फूलों का प्रयोग बिल्कुल भी न करें. कारण इस प्रकार के पुष्पाें से शिव को नफरत हैं.
  • भगवान शंकर की पूजा में हल्दी और कुमकुम का प्रयोग बिल्कुल ना करें. पुराणों की मानें तो शिव वैरागी हैं और हल्दी, कुमकुम शुभता का प्रतीक माना जाता है.
  • इस दिन भूलकर भी घर में कलह नहीं करना चाहिए और न हीं किसी को अपशब्द बोलने चाहिए.
  • इस दिन किसी भी पशु को न तो सताना चाहिए और न हीं मारना चाहिए.

इसे भी पढ़े :