एप बनाना सीखेंगे स्कूली विद्यार्थी, नीति आयोग ने शुरू किया मुफ्त ऑनलाइन कोर्स !

 एप बनाना सीखेंगे स्कूली विद्यार्थी, नीति आयोग ने शुरू किया मुफ्त ऑनलाइन कोर्स !

स्कूली बच्चों को पार्ट टाईम अर्निंग के गुरू सीखने के उद्देश्य से NITI Aayog releases Atal Innovation Mission के अंतर्गत एक Online course शुरू किया है. कोर्स के जरिए स्कूली छात्र Mobile app बनाना सीख सकेंगे. नीति आयोग द्वारा शुरू किए गए कोर्स का नाम, ATL एप डेवलपमेंट मोड्यूल है.

खास बात यह है कि, ऑनलाइन के साथ-साथ यह शासन की ओर से मुफ्त में करवाया जा रहा है. कोर्स करने के लिए किसी प्रकार की कोई फीस नहीं है.

नीति आयोग की मंशा है कि, भारतीय स्कूली छात्र तकनीकी क्षेत्र में आगे बढ़ते हुए आत्मनिर्भर भारत से जुड़े. साथ ही रोजगार के अवसर तलाश सके.ऑनलाइन कोर्स को भारतीय स्टार्टअप प्लेज़्मो के साथ अनुबंध कर लॉन्च किया गया है.

NITI Aayog CEO Amitabh Kant ने जानकारी देते हुए बताया कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के नागरिकों को तकनीक से जोड़ने के लिए कोर्स की शुरुआत की गई है. जरूरी है कि, कम उम्र के भारतीय बच्चों को तकनीकी गुरु सीखाने की आवश्यकता है.

अप्लाई करने के लिए क्लिक करें: https://appcourse.plezmo.com/

इन स्टेप को फॉलों कर करें अप्लाई
स्टेप 1 : आपके पास पहले से जीमेल अकाउंट होना चाहिए. यदि नहीं है तो उसे बना ले. मांगी गई जानकारी भरकर रजिस्टर के आप्शन पर सब्मिट करें.

स्टेप 2: रजिस्टर पूरा होने के बाद आपको ‘My Account’ पेज पर जाना होगा. जिसके बाद कोर्स 1 मिलेगा. विडियो देखकर आप शुरुआ कर सकते है. कोर्स में 6 मोड्यूल हैं. एक-एक कर सभी को पूरा करना होगा. यह आपके विवेक पर निर्भर करता है कि 6 मोड्यूल कितने समय में पूरा करते हैं. प्रोग्रेस रिपोर्ट अकाउंट में देखी जा सकती है. लॉग इन और लॉगआउट का आप्शन है.

स्टेप 3: हर एक मोड्यूल पूरा करने के बाद आपकों एक बैज मिलेगा. यह आपकी कुशलता को प्रदर्शित करेगा. बैज की जानकारी आपकों माय अकाउंट पेज पर दिखेगी.

स्टेप 4: 4 मोड्यूल पूरा करते ही ‘मोबाइल एप डेवलपमेंट’ का सर्टिफिकेट आपको मिल जाएगा. मोड्यूल 6 पूरा होते ही, ‘वेब एप डेवलपमेंट’ सर्टिफिकेट प्राप्त होगा. माय अकाउंट पेज से सर्टिफिकेट डाउनलोड किया जा सकता है.

स्टेप 5: मोड्यूल में आ रही किसी भी प्रकार की परेशानी के लिए मेनू में ‘हेल्प’ पर क्लिक करके परेशानी का समाधान खोज सकते हैं.

KAMLESH VERMA

https://newsmug.in

Related post