ग्रेसिम उद्योग नागदा का जलवाल तालाब : शिकायत पर अतिक्रमण किया जाना प्रमाणित हुआ

0
284
grasim-udyog-nagda-jalwal-talab-encroachment-on-complaint-certified
फाइल फोटो

नागदा। अखिल भारतीय असंगठित मजदूर कांग्रेस के प्रदेश संयोजक अभिषेक चौरसिया द्वारा M / s Grasim Industries Limited द्वारा ग्राम जलवाल स्थित शासकीय भूमि पर अतिक्रमण कर निर्मित किए गए जलवाल तालाब के संबंध में अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी, उज्जैन की न्यायालय में प्रस्तुत शिकायत के परिपेक्ष्य में अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) द्वारा प्रस्तुत खसरावार प्रतिवेदन में ग्रेसिम उद्योग द्वारा अतिक्रमण किया जाना सिद्ध पाया गया है। अतिक्रमण की जानकारी चौरसिया खाचरौद एसडीएम वीरेंद्रसिंह दांगी ने दी है।

 अतिक्रमण पर दोहरी नीति क्यों ?

अतिक्रमण को लेकर चौरसिया ने तर्क है कि खाचरोद के भ्रष्ट अफसरों के साथ गड़बड़ी कर  M / s Grasim Industries Limited  ने मामले को दबाने का कार्य सालों से किया जाता रहा है। परेशानी यह है कि मामले के संज्ञान में होने के बाद प्रशासन ने M / s Grasim Industries Limited के खिलाफ कार्रवाई नहीं की। मामले को लेकर चौरसिया ने पूर्व में राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत को भी मामले की शिकायत की थी। सिंह ने तत्कालीन जिला कलेक्टर शशांक मिश्र को जांच के आदेश दिए थे।

एफआईआर दर्ज किए जाने की गुहार

चौरसिया ने मामले में शासकीय भूमि से M / s Grasim Industries Limited नागदा द्वारा किए गए अतिक्रमण को हटवाने के लिए संभाग आयुक्त आनंद कुमार शर्मा, जिलाधिकारी आशीष सिंह, राजस्व विभाग के प्रमुख सचिव, राजस्व मंडल ग्वालियर, अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी उज्जैन आदि को शिकायत की हैं। ठोस कार्यवाही नहीं किए जाने पर मामले को लेकर माननीय उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया जाएगा।

grasim-udyog-nagda-jalwal-talab-encroachment-on-complaint-certified
फाइल फोटो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here