सिक्युरिटी गेट एंट्री पास से ठेका श्रमिकों को काम पर बुला रहा ग्रेसिम उद्योगय प्रबंधन, नहीं मिलेगा हितलाभ

 सिक्युरिटी गेट एंट्री पास से ठेका श्रमिकों को काम पर बुला रहा ग्रेसिम उद्योगय प्रबंधन, नहीं मिलेगा हितलाभ

सक्युरिटी गेट इन्ट्री पास की छायाप्रति। फोटो सोर्स : ( सुबोध स्वामी)

नागदा. grasim industries limited nagda प्रबंधन द्वारा कोरोना काल का बहाना बनाकर व बाजार में उनके उत्पाद नहीं बिकने का कारण बताकर उद्योग में कार्यरत 3500 हजार से ज्यादा ठेका श्रमिकों को काम पर नहीं बुलाया जा रहा है। जिसको लेकर कांग्रेस कमेटी द्वारा विधायक दिलीपसिंह गुर्जर के नेतृत्व में नगर बंद तक कराया गया।

लेकिन काम नहीं होने का बहाना बनाकर उद्योग प्रबंधन ठेका श्रमिकों की रोजी रोटी के साथ खिलवाड़ कर रहा है। दरअसल जिला कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष सुबोध स्वामी ने कलेक्टर उज्जैन को एक लिखित शिकायत की है। जिसमें बताया है कि, ठेका श्रमिकों को सिक्युरिटी गेट इन्ट्री पास बनवाकर ठेकेदार द्वारा उद्योग प्रबंधन के इशारे पर चोरी छिपे काम पर बुलाया जा रहा है। सिक्युरिटी गेट इन्ट्री पास से grasim industries limited nagda उद्योग के अंदर काम करने वाले ठेका श्रमिकों को श्रम कानूनों के अन्तर्गत मिलने वाले हित लाभ नहीं मिल पाएगें।

इसे भी पढ़े :  नागदा से कोटा के बीच आज से चलेगी स्पेशल इंटरसिटी ट्रेन

कार्य के दौरान उद्योग में श्रमिक के साथ किसी प्रकार की कोई दुर्घटना हो जाती है तो ना उद्योग प्रबंधन और ना ही ठेकेदार जिम्मेदार होगा। सिक्युरिटी गेट इन्ट्री पास लेकर उद्योग के भीतर प्रवेश करने वाले ठेका श्रमिक स्वयं जोखिम उठाकर ही अंदर जा रहा हैं।

सबसे बड़ी बात यह है कि अभी तक जितने भी वर्षों तक ठेका श्रमिक ने grasim industries limited nagda उद्योग में काम करा है वह अवधि इस सिक्युरिटी गेट इन्ट्री पास से काम करने वाले श्रमिकों की समाप्त हो जाएगी। वहीं श्रमिक नये सिरे से अपनी नौकरी करने पर बाध्य होगा वो भी स्वयं की जिम्मेदारी एवं जोखिम पर।

सिक्युरिटी गेट इन्ट्री पास के तहत ठेका श्रमिकों को काम पर बुलाये जाने का मतलब यह स्पष्ट है कि उद्योग में ठेका श्रमिकों की आवश्यकता तो है लेकिन प्रबंधन व ठेकेदार की नियत ठेका श्रमिकों को मिलने वाले हित लाभों को नहीं देने की होने के कारण उन्हें ठेकेदारी कार्ड के माध्यम से कार्य पर नहीं बुलाकर सिक्युरिटी गेट इन्ट्री पास बनाकर काम पर बुलाया जा रहा है।

इसे भी पढ़े :  ग्रेसिम उद्योग नागदा के ठेका श्रमिकों को कार्य बुलाएं जाने के लिए सीएम को पत्र लिखा

ठेकेदार के सुपरवाईजर (धर्मेन्द्रसिंह डोडिया मो. 9669171699) द्वारा ठेका श्रमिकों से लगातार सम्पर्क साध कर उन्हें उद्योग में आने के लिए दबाव बनाया जा रहा है। जब ठेका श्रमिक सुपरवाईजर से ठेकेदारी कार्ड जारी करने की बात करते है, तो सुपरवाईजर द्वारा बताया जाता है कि, उद्योग के अधिकारियों ने ठेकेदारी कार्ड के लिए स्पष्ट मनाकर रखा है।

आप लोगों को काम पर आना है तो सिक्युरिटी गेट इन्ट्री पास बनाकर हम आपकों काम पर बुला सकते है। जबकि श्रम कानूनों में सिक्युरिटी गेट इन्ट्री पास का कोई प्रावधान नहीं है। grasim industries limited nagda प्रबंधन व ठेकेदार श्रम कानूनों का सरेआम उल्लंघन कर श्रमिकों की जान जान बुछकर जोखिम में डालकर कार्य करने पर बाध्य कर रहे है।

grasim-industrial-management-calling-contract-workers-to-work-from-security-gate-entry-pass-will-not-get-benefit
सक्युरिटी गेट इन्ट्री पास की छायाप्रति। फोटो सोर्स : ( सुबोध स्वामी)

grasim industries limited nagda  उद्योग में कार्यरत ठेकेदार द्वारा उद्योग प्रबंधन से साठगांठ कर श्रम कानून का उल्लंघन करते हुए ठेका श्रमिकों को स्वयं की जान की जोखिम व जिम्मेदारी पर सिक्युरिटी गेट इन्ट्री पास  बनाकर उद्योग में कार्य पर बुलाये जाने एवं ठेकेदारी कार्ड जारी नहीं करने पर उद्योग प्रबंधन एवं ठेकेदार के विरूध कार्यवाही करने की मांग जिला कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष सुबोध स्वामी ने कलेक्टर उज्जैन से की हैं।

नोट : प्रेस बयान जिला कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष सुबोध स्वामी द्वारा जारी किया गया है. 

KAMLESH VERMA

https://newsmug.in

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *