News

गोगा पंचमी 2021 में कब है – Goga Panchami 2021 Mein Kab Hai

गोगा पंचमी 2021 में कब है – Goga Panchami 2021 Mein Kab Hai । गोगा पंचमी की तारीख, महत्व और किस तरह मनाई जाती हैं | Goga Panchami Date, Significance and how to celebrate it in Hindi 

महत्वपूर्ण जानकारी

  • गोगा पंचमी
  • शुक्रवार, 27 अगस्त 2021
  • पंचमी तीथी शुरू: 06:48 PM, 27 अगस्त 2021
  • पंचमी तिथि समाप्त: 08:56 PM, 28 अगस्त 2021

गोगा पंचमी भाद्रपद की कृष्ण पक्ष की पंचमी को मनाया जाता है. इस दिन वाल्मिकी समाज के आराध्य देव भगवान गोगादेव की पूजा की जाती है. हिंदू धर्म की पौराणिक मान्यता के अनुसार गोगादेव साँपों से जीवन की रक्षा करते है. इस दिन नाग देवता का पूजन किए जाने का विधान है. गोगा पंचमी के दिन जाहरवीर गोगा जी की पूजा करने से गोगा जी महाराज सर्प के काटने से हमारी रक्षा करते हैं. इस दिन गोगा जहार वीर की पूजा के साथ-साथ नाग देवता की पूजा भी की जाती है. साल 2021 में गोगा पंचमी 27 अगस्त 2021, शुक्रवार को मनाया जाएगा.

इस दिन सबसे पहले कटोरे में दूध भरकर नागों को पिलाना चाहिए. जिसके बाद दीवार पर गेरू से पोतकर दूध में कोयला पीसकर चाकोर घर बनाकर उसमें पांच सर्प के चिह्न बनाया जाता है. जिसके बाद इन सर्पों पर जल, कच्चा दूध, रोली-चावल, बाजरा, आटा, घी, चीनी मिलाकर चढ़ाना चाहिए और पण्डित को दक्षिणा देनी चाहिए.

इस व्रत के करने से स्त्रियाँ सौभाग्यवती होती हैं. पति की विपत्तियों से रक्षा होती है और मनोकामना पूरी होती है. इस दिन बहनें अपने भाइयों के माथे पर तिलक निकालती हैं. तथा स्वयं चना और चावल का बना हुआ बासी भोजन करती हैं। बदेल में भाई यथाशक्ति बहनों को रुपया देते हैं.

Goga Panchami 2021
ऐसे करें पूजन :-
  • इस दिन पूजन के दौरान गोगादेव और नाग देवता पर दूध अर्पित करना चाहिए.
  • दीवार को साफ-सुथरी करके गेरू से पोतकर दूध में कोयला मिलाकर चौकोर चौक बनाया जाता है और उसके ऊपर 5 सांप बनाते हैं.
  • उसके बाद कच्चा दूध, पानी, रोली व चावल अर्पित किए जाते हैं तथा बाजरा, आटा, घी और शकर मिलाकर प्रसाद चढ़ाया जाता है.
  • इस त्योहार की यह मान्यता है कि गोगादेव बच्चों के जीवन की रक्षा करते हैं अत: माताएं अपनी संतान की लंबी उम्र के लिए गोगादेव की पूजा करती हैं तथा बच्चों के अच्छे स्वास्थ्य की कामना करती हैं.
  • इतना ही नहीं, इस दिन अगर नि:संतान महिलाएं गोगादेव का पूजन करें तो उनकी गोद भी जल्दी ही संतान सुख से भर जाती है. गोगा पंचमी के 4 दिन बाद ही भाद्रपद कृष्ण नवमी को गोगा नवमी का त्योहार मनाया जाता है. यह त्योहार काफी प्रसिद्ध है. इस दिन गोगा जहारवीर की पूजा के साथ में नाग देवता की भी विधिवत अर्चना करनी चाहिए.
इसे भी पढ़े :
Manisha Palai

भुवनेश्वर, उड़िसा की रहने वाली मनीषा फिलहाल MCA की पढ़ाई कर रही हैं. फैशन, कुकिंग और मेकअप टिप्स के बारे में मनीषा को महारथ हासिल है. लिखने के शौक को उड़ान देने के लिए मनीषा newsmug.in के साथ जुड़ी हैं.

Recent Posts

प्रपोज़ डे कब मनाया जाता है | Propose Day Kab Manaya Jata Hai

वैलेंटाइन वीक के नाम से हर आयु वर्ग का इंसान परिचित होता है. क्योंकि यह…

4 hours ago

रोज डे कब मनाया जाता है | Rose Day Kab Manaya Jata Hai

वैलेंटाइन वीक के नाम से हर आयु वर्ग का इंसान परिचित होता है. क्योंकि यह…

5 hours ago

तिल कूट चौथ व्रत कब है 2022 | Tilkut Chauth Vrat Kab Hai 2022 Date Calendar India

तिल कूट चौथ व्रत कब है 2022 | Tilkut Chauth Vrat Kab Hai 2022 Date…

20 hours ago

Valentine Day Kab Hai 2022 in India | वैलेंटाइन डे कब है 2022 में

प्रेम का इजहार करने के लिए प्रेमी जोड़े फरवरी का इंतजार करते हैं। इस माह…

2 days ago

Gorakhpur Walo Ko Kabu Kaise Kare ! गोरखपुर वालों को कैसे काबू करें?

क्या आप भी गोरखपुर वालों को कैसे काबू करें? ये सवाल गूगल पर सर्च कर…

1 week ago

NEFT क्या है, कैसे काम करता है – What is NEFT in Hindi

बैंक हर इंसान का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होता है. सभी का बैंक खाता किसी ना…

1 week ago