उठो द्रोपदी शस्त्र उठा लो , अब न गोविंद आएंगे -म.प्र कांग्रेस कमेटी सदस्य मालपानी

 उठो द्रोपदी शस्त्र उठा लो , अब न गोविंद आएंगे -म.प्र कांग्रेस कमेटी सदस्य मालपानी

भूमिका को तलवार भेंट करते म.प्र कांग्रेस कमेटी सदस्य बसंत मालपानी

नागदा. दो दिन से मन बड़ा उद्वेलित है,अशांत है एवं मन में गुस्सा एवं रोष भी है क्योंकि मैं भी दो बेटी का पिता हूं और जब समाचार पत्रों में,टी.वी पर,सोशल मीडिया पर बेटियों एवं महिलाओं के साथ बलात्कार,यौन प्रताड़ना,दहेज के लिए जलाए जाने,शारीरिक और मानसिक प्रताड़ना और महिलाओं के खरीद-फ़रोख्त के समाचार सुनने को मिलते है।

get-up-pick-up-the-weapon-of-draupadi-now-govind-will-not-come---mp-congress-committee-member-malpani
भूमिका को तलवार भेंट करते म.प्र कांग्रेस कमेटी सदस्य बसंत मालपानी

तब बेटियों के प्रश्नों से मन बड़ा दुःखी होता है कि महिला सुरक्षा कानून का क्या मतलब ? शासन प्रशासन चाहे कितना कठोर कानून तैयार कर ले जब तक हम अपने बेटों में संस्कार और मर्यादा नहीं सिखाएंगे तब तक ऐसे कानून मजाक ही बनते रहेंगे।

उत्तर प्रदेश के हाथरस,बलरामपुर,आजमगढ़ की बलात्कार की घटनाओं को देखते हुए लगता है कि अब बेटियों को निडर बनाते हुए उनके हाथों में उनकी आत्मरक्षा के लिए शस्त्र देना पड़ेंगे। परिवर्तन एक दिन में नहीं होता उसके लिए संघर्ष करना पड़ता है।

अब वक्त की मांग है कि नारी उत्थान के लिए आंदोलन छेड़ा जाए और बेटियों को परिवार एवं विद्यालय में आत्मरक्षा के गुर सिखाएं जाएं ताकि ऐसा अपराध करने वाले दरिंदे उनका शिकार न कर पाएं।यह बात का गुरुवार को चेतनपुरा की भूमि वाल्मीकि को तलवार भेंट करते हुए म.प्र कांग्रेस कमेटी सदस्य बसंत मालपानी ने कही।

get-up-pick-up-the-weapon-of-draupadi-now-govind-will-not-come---mp-congress-committee-member-malpani
भूमिका को तलवार भेंट करते म.प्र कांग्रेस कमेटी सदस्य बसंत मालपानी

मालपानी ने तलवार भेंट करने से पहले युवती को कवि पुष्यमित्र उपाध्याय की पंक्तियां “उठो द्रोपदी शस्त्र उठा लो , अब न गोविंद आएंगे ” सुनाई । इस अवसर पर कमल आर्य,अशोक परांजपे,दिलीप फतरोड़,विरेन्द्र मालपानी आदि मौजूद थे।

get-up-pick-up-the-weapon-of-draupadi-now-govind-will-not-come---mp-congress-committee-member-malpani
कैंडल मार्च निकालते वाल्मीक समाजजन.

नागदा। उत्तर प्रदेश के हाथरस में दलित बालिका के साथ हुई गैंगरेप की घटना को लेकर दलित समाजजनों में आक्रोश व्याप्त है। घटना से आहत सर्व वाल्मीकि समाजजनों ने गुरुवार शाम 7 बजे चंद्रशेखर मार्ग स्थित बाबा रामदेव की मेढ़ी से कैंडल मार्च निकाला। जो शहर के प्रमुख मार्गों से होकर रेलवे स्टेशन स्थित कन्याशाला चौराहा पहुंची। जहां पर एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन हुआ।

इसे भी पढ़े : नागदा में डेढ़ घंटे चला हाई वोल्टेज ड्रामा : स्कूल संचालक ने कहा 3000 रुपए वाले स्कूल में नहीं पढ़ा सकते तो, 700 रुपए वाले स्कूल में पढ़ाए, अभिभावक भड़के

KAMLESH VERMA

https://newsmug.in

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *