चक्का जाम को लेकर क्या है किसानों और पुलिस का प्लान?

0
122
farmers-plan-chakka-jam-on-february-6-to-block-highways-but-not-in-delhi
सुरक्षा को लेकर पुलिस द्वारा की गई बेरिकेडिंग

आज यानी 6 फरवरी, शनिवार को पूरे देश में किसान चक्का जाम करेंगे. हाईवे ब्लॉक करेंगे. जाम केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के विरोध में किया जाएगा. विरोध में देश की राजधानी दिल्ली में बीते दो माह से चल रहा है. जिसे किसान आंदोलन का नाम दिया गया है. संयुक्त किसान मोर्चा ने देशभर के किसानों से और आम जनता से भी अनुरोध किया है कि, किसानों के समर्थन में जाम में शामिल हों.

26 जनवरी 2021 को राजधानी में जो कुछ हुआ था, उसे देखते हुए एक और अहम अपील भी की गई है. ये अपील कुछ ऐसे है कि जो जहां है, वहीं चक्का जाम करे और वहीं से किसानों से प्रति समर्थन दिखाए. इसके अलावा एक अहम फैसला भी लिया गया है. दिल्ली के भीतर चक्का जाम नहीं होगा. इस पर किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा

“दिल्ली में हम नहीं कर रहे. वहां तो राजा ने ख़ुद किले-बंदी कर ली है. हमारे जाम करने की ज़रूरत ही नहीं है.”

मालूम हो कि, राकेश टिकैत 5 फरवरी को ट्रॉली भरकर मिट्टी लेकर गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे. जिस स्थान पर पुलिस ने कीलें लगाई थीं, वहां  पर टिकैत ने किसानों के साथ मिलकर पौधे लगाए  है.

farmers-plan-chakka-jam-on-february-6-to-block-highways-but-not-in-delhi
सुरक्षा को लेकर पुलिस द्वारा की गई बेरिकेडिंग

आइए संयुक्त किसान मोर्चा की चक्का जाम को लेकर क्या योजना है, क्या तैयारी है?

3 घंटे का चक्का जाम

# 6 फरवरी को पूरे देश में चक्काजाम होगा. ऐसे में नेशनल और स्टेट हाईवेज़ को दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक जाम रखा जाएगा.

# इमरजेंसी और आवश्यक सेवाओं जैसे एम्बुलेंस, स्कूल बस आदि को नहीं रोका जाएगा.

# जाम पूर्णरुप से शांतिपूर्ण और अहिंसक रहेगा. प्रदर्शनकारी किसी के साथ हिंसकर व्यवहार नहीं करेंगे.

# दिल्ली-NCR में सभी विरोध स्थल पहले से ही चक्का जाम मोड में हैं, इसलिए यहां अन्य कहीं चक्का जाम नहीं होगा. दिल्ली में प्रवेश की सभी सड़कें खुली रहेंगी.

# 3 बजकर एक मिनट पर हॉर्न बजाकर किसानों की एकता का संदेश देते हुए चक्का जाम कार्यक्रम पूरा होगा.

पुलिस की तैयारियां

दरअसल चक्का जाम हाईवे पर ही, इसलिए पुलिस की भरसक कोशिश रहेगी कि प्रदर्शनकारियों को शहर के भीतर घुसने ना दिया जाए. इस नाते टिकरी और दिल्ली की अन्य सीमाओं पर दिल्ली पुलिस ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की है. किसानों को रोकने के लिए कटीले रेज़र ब्लेड वायर और जाल लगाए गए हैं. इसके साथ ही बैरिकेडिंग और सीमेंट के अवरोधक हैं.

यूपी-उत्तराखंड में चक्का जाम नहीं

राकेश टिकैत ने सावर्जनिक रुप से घोषणा कि दो राज्यों में चक्का जाम नहीं होगा. उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड. कारण है कि, यहां के किसान स्टैंड-बाई में रहें. इसके अलावा दिल्ली में भी नहीं है, बाकि पूरे देश में चक्का जाम होगा.

दूसरी ओर किसानों के मसले पर शुक्रवार 5 फरवरी को राज्यसभा में भी जमकर बहस हुई. कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि हमने किसान संगठनों से 12 बार बात की. कृषि मंत्री बोले कि एक राज्य के किसानों को बरगलाया जा रहा है. कहा –

“दुनिया जानती है कि पानी से खेती होती है. खून से खेती सिर्फ कांग्रेस ही कर सकती है. भारतीय जनता पार्टी खून से खेती नहीं कर सकती.”

किसान प्रोटेस्ट पर प्रदर्शनकारियों ने ‘गलती’ की तो मिया ख़लीफ़ा ने मौज ले ली

Newsmug App: नागदा और देश-दुनिया की खबरें, अपडेट्स और सेहत की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NEWSMUG ऐप। आपके नागदा का  लोकल न्यूज एप।

Google News पर हमें फॉलों करें.