फार्म मशीनरी बैंक योजना: रजिस्ट्रेशन (Farm Machinery Bank) एप्लीकेशन स्टेटस

 फार्म मशीनरी बैंक योजना: रजिस्ट्रेशन (Farm Machinery Bank) एप्लीकेशन स्टेटस

Farm Machinery Bank Yojana Online Apply | फार्म मशीनरी बैंक योजना रजिस्ट्रेशन | फार्म मशीनरी बैंक योजना एप्लीकेशन स्टेटस

केंद्र सरकार ने किसानों ने आय दोगुनी करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। कृषक मित्रों की आय को बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा समय-समय पर किसान हितेषी विभिन्न प्रकार की योजनाएं शुरू की जाती है। लेख के माध्यम से हम आपकों एक ऐसी ही योजना के बारे में बताने जा रहे हैं। जिसका नाम फार्म मशीनरी बैंक योजना है। लेख के माध्यम हम बताएंगे कि फार्म मशीनरी बैंक योजना क्या है? योजना का क्या उद्देश्य है?, लाभ, विशेषताएं, पात्रता, आवेदन प्रक्रिया आदि। चलिए दोस्तों हम आपकों Farm Machinery Bank Yojana से संबंधित अहम जानकारी देते हैं। अनुरोध है कि आप लेख को शुरु से लेकर अंत तक पढ़े।

फार्म मशीनरी बैंक योजना क्या है?

आधुनिक युग के लोग खेती में भी तकनीक का उपयोग करना चाहते है। आज के दौर में बिना मशीन कृषि कार्य करना मुश्किल है। धरती पुत्रों की सुविधा के लिए फार्म मशीनरी बैंक योजना को शुरु किया है। योजना का सीधा उद्देश्य है कि मशीनों की उपलब्धता को किसानों तक सरल तरीके से पहुंचाना है। भारत के गांवों में फार्म मशीनरी बैंक का गठन किया जाएगा। कोई भी किसान फार्म मशीनरी बैंक खोल सकता है। Farm Machinery Bank खोलने के लिए सरकार द्वारा किसानों को सब्सिडी दी जाएगी।

सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली सब्सिडी

फार्म मशीनरी बैंक को खोलकर कोई भी कृषक आय का एक बड़ा स्त्रोत खड़ा कर सकता हैं। फार्म मशीनरी बैंक खोले जाने पर सरकार की ओर से 80% सब्सिडी दी जाती है। कृषकों को लागत का 20 फ़ीसदी ही मशीनों की खरीदी पर देना होता है। योजना के तहत सब्सिडी 10 लाख रुपए से लेकर 1 करोड़ रुपए तक दी जाती है। फार्म मशीनरी बैंक योजना के तहत एक मशीनरी पर 3 साल में महज एक बार ही सब्सिडी दी जाती है। किसान एक साल में तीन अलग-अलग प्रकार की मशीनों पर सब्सिडी ले सकता है।

farm-machinery-bank-yojana

Farm Machinery Bank Yojana कस्टम हायरिंग सेंटर

फार्म मशीनरी बैंक योजना के तहत पूरे देश में कस्टम हायरिंग सेंटर बनाए जा रहे हैं। जिसके द्वारा फार्म मशीनरी बैंक खोले जाएंगे। पूरे देश में अब तक करीब 50 हजार कस्टम हायरिंग सेंटर खोले जा चुके हैं। सरकार द्वारा योजना के संबंध में आधिकारिक बेवसाइट और मोबाइल एप लॉन्च किया गया है। जिसका उपयोग कर किसान फार्म मशीनरी बैंक खुलवाने के लिए आवेदन कर सकते हैं। किसान सीड फर्टिलाइजर ड्रिल, प्लाऊ, थ्रेसर, टिलर, रोटावेटर आदि प्रकार की मशीनों को सब्सिडी पर खरीद सकते हैं।

फार्म मशीनरी बैंक योजना पहला चरण

Farm Machinery Bank योजना का पहला चरण राजस्थान प्रदेश में शुरू किया जा चुका है। जिसमें सभी वर्गों के किसानों को लाभ दिया जा रहा है। अनुसूचित जाति, जनजाति, महिलाओं, बीपीएल कार्ड धारक और छोटे किसानों को योजना में शामिल होने पर प्राथमिकता दी जाएगी। इतना ही नहीं पहले आओ पहले पाओ पद्धिति की तर्ज परकिसानों को अनुदान राशि दी जाएगी।

फार्म मशीनरी बैंक योजना उद्देश्य

फार्म मशीनरी बैंक योजना का प्रमुख उद्देश्य किसानों को किराए पर खेती के लिए संसाधन उपलब्ध कराना है। फार्म मशीनरी बैंक खोलकर किसानों को किराए पर कृषि कार्य के लिए उपकरण उपलब्ध कराया जाना सुनिश्वित किया गया है। जिससे कृषकों को खेती कार्य करने में किसी प्रकार की कोई परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। योजना का लाभ किसी भी श्रेणी का किसान या आम इंसान ले सकता है। योजना आय का एक बेहतर और अच्छा स्त्रोत हैं। योजना में शामिल होने पर आय के स्त्रोत तो खुलेंगे ही अन्य लोगों को रोजगार उपलब्ध होगा।

फार्म मशीनरी बैंक योजना की विशेषताएं तथा लाभ

  • Farm Machinery Bank के जरिए कृषकों को किराए पर कृषि यंत्र उपलब्ध कराए जाएंगे।
  • योजना के अधीन फार्म मशीनरी बैंक खोले जाएंगे जिसके लिए भारत सरकार की ओर से 80% अनुदान दिया जाएगा।
  • फार्म मशीनरी बैंक खोलने के लिए संबंधित व्यक्ति को महज 20 फ़ीसदी ही राशि शासन को अदा करना पड़ती है।
  • अनुदान राशि 10 लाख रुपए से लेकर 1 करोड़ रुपए तक होती है।
  • किसानों को कृषि यंत्र उपलब्ध करना और समय और रुपयों की बचत करना है।
  • फार्म मशीनरी बैंक योजना के क्रियान्वयन के लिए कस्टम हायरिंग सेंटर बनाए जाएंगे।
  • एक उपकरण पर 3 साल में एक बार सब्सिडी दी जाएगी।
  • एक साल के भीतर तीन अलग-अलग कृषि यंत्रों पर सब्सिडी ली जा सकती है।
  • आवेदन करने के लिए सरकार द्वारा मोबाइल ऐप तथा आधिकारिक पोर्टल शुरु किया गया है।
  • अनुसूचित जाति, जनजाति, महिलाओं, बीपीएल कार्ड धारक और छोटे किसानों को योजना में शामिल होने के लिए प्राथमिकता दी जाएगी।

Farm Machinery Bank Scheme की पात्रता

  • आवेदक भारत का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • आवेदक की आयु 18 साल या उससे ज्यादा होनी चाहिए।
  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मशीनरी के बिल की कॉपी
  • भामाशाह कार्ड
  • बैंक खाते की पासबुक
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र

फार्म मशीनरी बैंक योजना के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया

  • योजना का लाभ लेने के लिए आपकों डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर इन एग्रीकल्चर मैकेनाइजेशन की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करना होगा। 

farm-machinery-bank-yojana

  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको रजिस्ट्रेशन के टैब पर क्लिक करना होगा। रजिस्ट्रेशन के टैब पर क्लिक करने के बाद आपके सामने 4 कैटेगरी खुलकर आएंगी जो कि कुछ इस प्रकार है।
  • आपको अपनी कैटेगरी के अनुसार ऊपर दी गई लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुलकर आएगा। जिसमें पूछी गई सभी जानकारी जैसे कि नाम, जीएसटी नंबर, पता, मोबाइल नंबर आदि भरना होगा।
  • अब आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अपलोड करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आपकी आवेदन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।
  • सबमिट करने के बाद आपकी स्क्रीन पर एक रेफरेंस नंबर आएगा जिसे आपको अपने पास संभाल कर रखना होगा।

एप्लीकेशन ट्रैक करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर इन एग्रीकल्चर मैकेनाइजेशन की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको ट्रैकिंग के टैब पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको ट्रैक your एप्लीकेशन के लिंक पर क्लिक करना होगा।

Also Read

KAMLESH VERMA

https://newsmug.in

Related post