सेहत

डेंगू बुखार के लक्षण 10 आसान घरेलू उपचार और क्या खाएं

डेंगू बुखार के लक्षण व घरेलू उपचार इन हिंदी (dengue bukhar ke lakshan ): डेंगू का बुखार एडीज मच्छर के काटने से फैलता हैं. बहुत ही कम लोग इस बात को जानते हैं कि, यह मच्छर साफ पानी में पनपते है और अंडे देते है. इंसान के शरीर में खून की कमी होना, प्लेटलेट काउंट कम होना, तेज बुखार आना और मांसपेशियों में दर्द करना डेंगू होने के प्रमुख सिम्पटम्स यानी लक्षण है. शरीर पर चकते दिखना, बुखार ज्यादा हो और जोड़ों में दर्द भी हो रहा हो तो तुरंत डेंगू टेस्ट करवाना चाहिए. डेंगू के रोग में बुखार जल्दी से काबू में नहीं आता और प्लेटलेट्स की संख्या कम होने लगती है. इस बीमारी में घबराने की नहीं बल्कि धैर्य की जरुरत होती है. आज इस पोस्ट के जरिए  जानेंगे डेंगू होने पर क्या खाएं और क्या नहीं खाना चाहिए व डेंगू का इलाज के उपाय कैसे करें, symptoms ayurvedic treatment and home remedies (gharelu nuskhe) for dengue fever in hindi.

प्लेटलेट्स कितने होने चाहिए – Platlets Count

  • प्लेटलेट्स की संख्या स्वस्थ व्यक्ति के शरीर में 1.5 – 2 लाख तक होती है.
  • यदि इसकी गिनती 1 लाख से कम हो जाए तो इसका एक बड़ा कारण डेंगू हो सकता हैं.
  • वैसे ये जरुरी नहीं है जिस मरीज को डेंगू हुआ हो उसके प्लेटलेट्स काउंट कम हो.
  • यदि यह 20 हजार या उससे कम हो जाए तो रोगी को platlets चढ़ाने पड़ते है.
  • यदि किसी के शरीर में प्लेटलेट्स ब्लीडिंग को रोकने का कार्य करते है पर जब इनकी संख्या नार्मल से कम होने लगे तो ब्लीडिंग हो सकती है.

डेंगू बुखार के लक्षण और घरेलू उपचार

dengue bukhar ke lakshan Aur Upchar in Hindi

1. डेंगू के सिम्पटम्स (dengue bukhar ke lakshan ) जल्दी से नजर नहीं आते इसके लक्षण 3 से 15 दिनों के भीतर दिखाई देते हैं, यदि शुरुआत में ही डेंगू की पहचान कर ली जाए तो इस रोग को बढ़ने से आसानी से रोका जा सकता है.

2. तेज बुखार, सिर दर्द, कमर दर्द, आँखों में दर्द और ठंड लगना इस बीमारी के शुरुआती लक्षण होते है.

3. खून में डेंगू का वायरस फैलने के कुछ देर के बाद ही जोड़ों में दर्द महसूस होने लगता है और रोगी को बुखार आने लगता है.

4. ब्लड प्रेशर अचानक से कम हो जाना और दिल की गति धीमे होना भी डेंगू होने के लक्षण है.

5. शरीर पर लाल चकते निकल आना, चक्कर आना, कमजोरी महसूस करना, मांसपेशियों में दर्द होना, दस्त लगना, भूख ना लगना और पेट दर्द करना भी dengue symptoms होते है.

6. जो लक्षण अभी तक बताये गए है वे डेंगू का पहला चरण है। अक्सर घरेलू नुस्खे और दवा से मरीज का बुखार उतरने लगता है, लेकिन यदि ऐसा एक दिन ही होता है व अगले दिन फिर बुखार हो जाता है तो ये डेंगू का अगला चरण हो सकता है.

7. डेंगू रोग के दूसरे चरण में बुखार पहले से भी तेज होता है, शरीर पर लाल चकते आने लगते है और प्लेटलेट्स की संख्या तेजी से घटने लगती है.

8. लक्षणों की जानकारी नहीं होना इस बीमारी के बढ़ने का कारण है. बहुत से लोग इसे सामान्य fever समझ लेते है और जरुरी ट्रीटमेंट नहीं लेते, जिस कारण ये रोग गंभीर हो जाता है.

9. ऊपर बताये गए लक्षणों में से अगर आपको कुछ भी लक्षण दिख रहे है तो डेंगू टेस्ट करवाए और तुरंत इलाज शुरू करे.

डेंगू बुखार का उपचार और घरेलू उपाय – Dengue Fever Treatment in Hindi

  • सामान्य बुखार होने पर मरीज का इलाज और देखभाल घर पर ही कर सकते हैं.
  • डेंगू होने पर क्या करे, अगर दवा लेनी है तो किसी भी चिकित्सक की सलाह से क्रोसिन या पेरासिटामोल मेडिसिन ले पर एस्प्रिन टॅबलेट ना ले, इस दवा से प्लेटलेट्स कम हो सकते है.
  • बुखार 102 से भी अधिक है तो मरीज के शरीर पर ठंडे पानी की पट्टियां रखें.
  • दिन में 2 बार गिलोय का रस शहद या घी में मिला कर सेवन करे। इस उपाय से शरीर में खून की कमी दूर होती है।
  • पपीते के पत्ते, गिलोय, गेंहू के ज्वारे और एलोवेरा को मिला कर इनका रस निकाले. डेंगू के उपचार में ये रस रामबाण इलाज है.
  • कच्चे पपीते का रस शरीर में प्लेटलेट्स को बढ़ाने में उपयोगी हैं.
  • डेंगू के उपचार में सबसे जरूरी है कि, रोगी के शरीर में पानी की कमी ना होने पाए. इसलिए मरीज को थोड़े थोड़े समय में पानी, नारियल पानी, नींबू पानी और ताजे फलों का रस पिलाते रहे.
  • अधिक से अधिक आराम करें. इस बीमारी में आराम करना दवा की तरह काम करता है. इस दौरान भोजन भी ऐसा खाना चाहिए जो आसानी से पच जाये.
  • डेंगू में क्या खाएं और क्या नहीं खाना चाहिए, हल्का भोजन करें, अदरक, अजवाइन, हींग और हल्दी का इस्तेमाल अधिक करें.
  • ज्यादा मिर्च और मसालेदार खाना खाने से परहेज करना चाहिए और एक बार में पेट भर खाना ना खाये.

डेंगू से बचने के उपाय

  • शून्य से पांच वर्ष तक के बच्चों की इम्युनिटी कमजोर होती है इसलिए बच्चों का ख्याल अधिक रखे. बच्चे जब भी बाहर खेलने जाये उन्हें पुरे कपड़े पहनाये.
  • घर और घर के आस पास कहीं गंदा पानी जमा ना होने दें. घर के अंदर भी सफाई रखे.
  • मछरों से बचने के उपाय भी करे जैसे कोइल या फिर स्प्रै इस्तेमाल करना.
  • तुलसी के पौधे की खुशबु से डेंगू वाले मच्छर भाग जाते है, इसलिए हो सके तो घर पे तुलसी का पौधा लगाए.

दोस्तों डेंगू बुखार के लक्षण उपाय और घरेलू उपचार, Dengue ke lakshan aur upchar in hindi का ये लेख कैसा लगा हमें बताये और अगर आपके पास डेंगू होने पर क्या करे क्या खाना चाहिए से जुड़े सुझाव है तो हमारे साथ साँझा करें.

Manisha Palai

भुवनेश्वर, उड़िसा की रहने वाली मनीषा फिलहाल MCA की पढ़ाई कर रही हैं. फैशन, कुकिंग और मेकअप टिप्स के बारे में मनीषा को महारथ हासिल है. लिखने के शौक को उड़ान देने के लिए मनीषा newsmug.in के साथ जुड़ी हैं.

Recent Posts

तिल कूट चौथ व्रत कब है 2022 | Tilkut Chauth Vrat Kab Hai 2022 Date Calendar India

तिल कूट चौथ व्रत कब है 2022 | Tilkut Chauth Vrat Kab Hai 2022 Date…

8 hours ago

Valentine Day Kab Hai 2022 in India | वैलेंटाइन डे कब है 2022 में

प्रेम का इजहार करने के लिए प्रेमी जोड़े फरवरी का इंतजार करते हैं। इस माह…

2 days ago

Gorakhpur Walo Ko Kabu Kaise Kare ! गोरखपुर वालों को कैसे काबू करें?

क्या आप भी गोरखपुर वालों को कैसे काबू करें? ये सवाल गूगल पर सर्च कर…

1 week ago

NEFT क्या है, कैसे काम करता है – What is NEFT in Hindi

बैंक हर इंसान का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होता है. सभी का बैंक खाता किसी ना…

1 week ago

Uttar Pradesh Election 2022 Astrology: यूपी चुनाव पर ज्योतिषियों की भविष्यवाणी, जानिए कौन बनेगा सीएम?

Uttar Pradesh Election 2022 Astrology: यूपी चुनाव पर ज्योतिषियों की भविष्यवाणी, जानिए किसकी होगी हार,…

1 week ago

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 – Up Vidhan Sabha Election 2022

UP Assembly Election 2022″यूपी विधानसभा चुनाव 2022 date”UP election 2022 Schedule”यूपी विधानसभा चुनाव 2022 का…

1 week ago