चामुंडा माता के शिखर से उतरी चंबल, मौसम खुलने से किसानों ने ली राहत

 चामुंडा माता के शिखर से उतरी चंबल, मौसम खुलने से किसानों ने ली राहत

चंबल में बाढ़ कम होने पर चामुंडा माता मंदिर की छत से उतरने लगा पानी। तस्वीर गुरुवार दोपहर 3 बजे की है।

नागदा। बीते दिन से रुक-रुक कर हो रही बारिश का सिलसिला गुरुवार को थम गया। गुरुवार को पूरा दिन मौसम साफ रहा। बारिश के थमते ही चामुंडा माता मंदिर के शिखर से पानी उतरना शुरू हो गया है।

chambal-nagda-descends-from-chamunda-mata-summit-farmers-get-relief-from-opening-season
हनुमान पाला डेम ओवर फ्लो होे से गिरता पानी.

आशंका जताई जा रही है कि, माता मंदिर के ओटले से पानी उतर जाएगा। इस सीजन में कुल 39.80 इंच बारिश दर्ज हो चुकी है। औसत आंकड़ा 36 इंच है।

chambal-nagda-descends-from-chamunda-mata-summit-farmers-get-relief-from-opening-season
चंबल में बाढ़ कम होने पर चामुंडा माता मंदिर की छत से उतरने लगा पानी। तस्वीर गुरुवार दोपहर 3 बजे की है।

मौसम के खुलने से किसानों ने राहत की सांस ली है। बारिश के कारण किसान सोयाबीन फसल की कटाई नहीं कर पा रहे थे। कई स्थानों पर कटी हुई सोयाबीन भीगने से नष्ट हो गई है।

बिड़लाग्राम मलीन बस्तियों में सप्लाय हो रहा मटमैला पानी

नागदा. बिड़लाग्राम के करीब 9 हजार लोग मटमैले पानी की परेशानी से जूझ रहे हैं। चंबल में बाढ़ आते ही नपा द्वारा क्षेत्र में गंदा पानी सप्लाय किया जाता है। नपा अफसरों का तर्क है कि फिल्टर प्लांट में टरर्बिटी अधिक होने से पानी मटमैला प्रदाय किया जा रहा है। चंबल के शांत होते ही मटमैले पानी की परेशानी हल हो जाएगी। दूसरी ओर क्षेत्र के लोगों का कहना है कि नपा द्वारा बीते चार दिनों से गंदा पानी प्रदाय किया जा रहा है। जिसे पीना तो दूर दैनिक घरेलु कार्यों में भी उपयोग नहीं किया जा सकता।

birlagram-nagda
इस प्रकार सप्लाय हुआ मटमैला पानी.

KAMLESH VERMA

https://newsmug.in

Related post