Bihar News

बिहार पंचायत चुनाव 2021 : कोरोना सुरक्षा को ले आयोग ने जारी की गाइडलाइन

बिहार पंचायत चुनाव 2021 : बिहार राज्य निर्वाचन आयोग ने पर्व-त्योहारों को ध्यान में रखते हुए दस चरणों में मतदान कराए जाने का निर्णय लिया है. जिसकों लेकर गोपालगंज में की तैयारी शुरू की गई है. गोपालगंज जिले के विजयीपुर एवं भोरे प्रखंड में सबसे पहले चुनाव कराया जाएगा. 230 पंचायतों में होने वाले चुनाव के के लिए कुल 3240 मतदान केंद्र बनाए जाएंगे. प्रत्येक मतदान केन्द्रों पर सिर्फ 850 मतदाताओं को ही वोट डालने की अनुमति दी जाएगी. 3 अगस्त 2021 से चुनाव की प्रक्रिया शुरू होने की आशंका है.

केंद्रों पर थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी: राज्य चुनावआयोग ने रैली और सार्वजनिक सभा को लेकर भी कहा है कि प्रत्याशी वैसे सार्वजनिक स्थलों का चयन करें जहां पर सभा हो सके. चुनाव आयोग ने स्पष्ट कहा है कि अग्रिम तौर पर सामाजिक दूरी को निर्धारित मानकों को चिन्हित किया जाए. प्रत्येक मतदान केंद्रों पर थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी.

फाइल फाेटो

कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए चुनाव आयोग कोई भी कमी नहीं छोड़ना चाहता है. यही कारण है कि बुखार होने वाले मतदाताओं को अंतिम घंटे में मतदान करने का मौका मिलेगा. मालूम हो कि, साल 2016 में गठित त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था और ग्राम कचहरी 15 जून को भंग कर दिया गया.

चुनाव नहीं होने की स्थिति में पंचायती राज की नई व्यवस्था परामर्शी समिति गठित कर संचालित की जा रही है. इधर पंचायत चुनाव की आहट के मद्देनजर संभावित प्रत्याशियों ने लोगों से मिलना-जुलना शुरू कर दिया है.

पंचायती राज के पदों के लिए चुनावी कार्यक्रम के तहत हर चरण में अधिसूचना जारी होने से लेकर मतदान के बीच 25 दिनों का अंतराल निर्धारित किए जाने की संभावना है. चुनाव आयोग के अनुसार 850 मतदाताओं पर एक मतदान केंद्र का गठन किया गया है.

राज्य निर्वाचन आयोग ने त्रिस्तरीय पंचायत के छह पदों पर नामांकन पत्र दाखिल करने वाले प्रत्याशियों को ऑनलाइन नामांकन पत्र दाखिल करने का विकल्प दिया गया है. आयोग ने कहा है कि जो उम्मीदवार ऑनलाइन नामांकन पत्र दाखिल करना चाहते हैं.

विभागीय सूत्रों के मुताबिक अगस्त के अंतिम सप्ताह में पहले चरण का चुनाव संपन्न कराए जाने की संभावना व्यक्त की जा रही है. आयोग ने कोरोना काल में चुनाव को लेकर कई आवश्यक कदम उठाए हैं.

इसे भी पढ़े :

KAMLESH VERMA

बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश दैनिक भास्कर और राजस्थान पत्रिका अखबार में सिटी रिपोर्टर पद पर कार्य चुके हैं.

Recent Posts

प्रपोज़ डे कब मनाया जाता है | Propose Day Kab Manaya Jata Hai

वैलेंटाइन वीक के नाम से हर आयु वर्ग का इंसान परिचित होता है. क्योंकि यह…

5 days ago

रोज डे कब मनाया जाता है | Rose Day Kab Manaya Jata Hai

वैलेंटाइन वीक के नाम से हर आयु वर्ग का इंसान परिचित होता है. क्योंकि यह…

5 days ago

तिल कूट चौथ व्रत कब है 2022 | Tilkut Chauth Vrat Kab Hai 2022 Date Calendar India

तिल कूट चौथ व्रत कब है 2022 | Tilkut Chauth Vrat Kab Hai 2022 Date…

6 days ago

Valentine Day Kab Hai 2022 in India | वैलेंटाइन डे कब है 2022 में

प्रेम का इजहार करने के लिए प्रेमी जोड़े फरवरी का इंतजार करते हैं। इस माह…

7 days ago

Gorakhpur Walo Ko Kabu Kaise Kare ! गोरखपुर वालों को कैसे काबू करें?

क्या आप भी गोरखपुर वालों को कैसे काबू करें? ये सवाल गूगल पर सर्च कर…

2 weeks ago

NEFT क्या है, कैसे काम करता है – What is NEFT in Hindi

बैंक हर इंसान का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होता है. सभी का बैंक खाता किसी ना…

2 weeks ago