Categories: सेहत

गाय के घी के साथ केसर मिलाकर नाभि में लगाने के फायदे

गाय के घी के साथ केसर मिलाकर नाभि में लगाने के फायदे । Benefits of mixing saffron with cow ghee and applying it to the navel in hindi

गाय का घी (saffron with cow ghee ) प्राचीन काल से ही भारतीय पूजन, व्यंजन और आयुर्वेदिक चिकित्सा का प्रमुख स्रोत रहा है.आयुर्वेद में घी को औषधि माना गया है. गाय का घी और केसर वात और पित्त को शांत करने में सर्वश्रेष्ठ मिश्रण है. इसके प्रयोग से कफ भी संतुलित होता है. भारत में खान-पान के मामलों में गाय के घी और कैसर के फायदे को नकारा नहीं जा सकता है. जहां एक तरफ घी के तड़के मात्र से दाल और कढ़ी का स्वाद बढ़ जाता, वहीं दूसरी तरफ केसर कई तरह की स्वास्थ्य व सौंदर्य समस्याओं का निदान भी करता है.

ग्राफिक डिजाइन : कमलेश वर्मा

गाय के घी के साथ केसर मिलाकर नाभि में लगाने को लेकर कई तरह की भ्रांतियां भी फैली हुई हैं, जिनकी वजह से तकनीकी युग के बच्चे इसके उपयोग से बचने की कोशिश है. जहां कुछ लोग घर में गाय का घी (Desi Ghee) बनाते हैं. गाय के घी में हेल्दी फैट के साथ-साथ प्रोटीन, विटामिन ए,ई और के भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं. गाय के घी में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट हमारा कई तरह के रोगों से बचाव करते हैं. केसर का वानस्पतिक नाम क्रोकस सैटाइवस (Crocus sativus Linn.), Syn-Crocus officinalis (Linn.)Honck है.जानिए गाय के घी के साथ केसर मिलाकर नाभि में लगाने के फायदे । benefits of mixing saffron with cow ghee and applying it to the navel in hindi

घी का उपयोग । Use of ghee

गाय के घी पर हुए शोध बताते हैं कि इससे रक्त और आंतों में मौजूद कोलेस्ट्रॉल कम होता है. क्योंकि गाय के घी से बाइलरी लिपिड का स्राव बढ़ जाता है. घी नाड़ी प्रणाली एवं मस्तिष्क के लिए भी श्रेष्ठ औषधि माना गया है. जिससे  आंखों पर पड़ने वाला दबाव कम होता है, इसलिए ग्लूकोमा के मरीजों के लिए भी फायदेमंद है. इसके अलावा हिंदू धर्म में पूजा का दीपक, हवन व प्रसाद बनाने में भी गाय के घी का उपयोग होता है.

केसर का उपयोग । Use of saffron

आमतौर पर केसर का उपयोग गर्भवती महिलाओं के लिए होता है, केसर वाला दूध पीने (saffron during pregnancy) गर्भवती महिलाओं को दिया जाता है। इसी प्रकार जैसे कमजोरी, सर्दी-जुकाम होने पर, या अन्य बीमारियों में केसर के सेवन करने की सलाह दी जाती है, क्योंकि केसर स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है.

गाय के घी के साथ केसर मिलाकर नाभि में लगाने के फायदे । Benefits of mixing saffron with cow ghee and applying it to the navel in hindi

  1. प्राकृतिक तत्वों से भरपूर गाय का घी और केसर : गाय का घी और केसर पूरी तरह से प्राकृतिक होता है. इसमें किसी भी प्रकार के प्रिजर्वेटिव और ट्रांस फैट नहीं होते हैं. यह वसा से भी मुक्त है. यह दोनों नेचुरल गुणों के कारण लंबे समय तक ताजा रह सकते है. नाभि  में दोनों के मिश्रण को लगाने से रक्तचाप संतुलित रहता है.
  2. पोषण से भरपूर : गाय के घी में घुलनशील विटामिन ए, डी, ई और के की भरपूर मात्रा होती है. केसर में मौजूद पोषक तत्व शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए आवश्यक माने जाते हैं. इसके अलावा गाय का घी शरीर में खाद्य पदार्थों से वसा में घुलनशील विटामिन और खनिजों के अवशोषण में सहायता करता है. नाभि में लगाए जाने से अनिद्र या नींद की कमी दूर होती है. रात को सोते समय घी और केसर का लेप नाभि में लगाएं.
  3. कैंसर से लड़ने वाला सीएलए : गाय के घी को गायों के दूध से बने मक्खन से बनाया जाता है तो इसमें संयुग्मित लिनोलिक एसिड का भंडार होता है. सीएलए को कैंसर के साथ-साथ ह्रदय रोग से लड़ने में भी मददगार है. कुछ शोध में पाया गया है कि सीएलए वजन घटाने में भी मददगार होता है. कैंसर रोगियों को दोनों का पेस्ट नाभि में माह में एक बार लगाना चाहिए.
  4. एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण : आयुर्वेदिक चिकित्सा में केसर का उपयोग जलन और सूजन के इलाज के लिए नियमित रूप से किया जाता है. इसमें बड़ी मात्रा में ब्यूटायरेट होता है. यह एक फैटी एसिड है, जो प्रतिरक्षा प्रणाली प्रतिक्रिया से जुड़ा हुआ है. यह सूजन को कम करता है. गाय के घी में मौजूद एंटी-वायरस गुण भी होते हैं, जो पाचन तंत्र को मजबूत रखते हैं. किसी भी अंग पर चोट लगने पर केसर का पेस्ट नाभि में लगाने से दर्द में राहत मिलती है.
  5. एंटी-ऑक्सीडेंट का प्रमुख स्रोत : गाय के घी में पाए जाने वाले एंटी-ऑक्सीडेंट शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करते हैं. इसके साथ ही वे कोशिका और ऊतक क्षति को रोकने के लिए फ्री रेडिकल्स को भी बेअसर करते हैं. इसलिए माह में दो बार केसर और गाय के घी का पेस्ट नाभि में लगाया जाता है.

इसे भी पढ़े : नाभि पर हल्दी लगाने का फायदा और स्वास्थ्य लाभ

KAMLESH VERMA

Recent Posts

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान स्पष्ट करें कि नागदा को जिला बनाने के लिए गजट नोटिफिकेशन करेगें या नहीं : विधायक गुर्जर

नागदा। कमलनाथ सरकार द्वारा नागदा को जिला बनाने का विधिवत प्रस्ताव केबिनेट मिंटिग में प्रस्ताव…

2 mins ago

नागदा को तगड़ा झटका, सीएम शिवराजसिंह चौहान ने नागदा जिला बनाए जाने की बात पर दिया गोलमोल जवाब

रविंद्रसिंह रघुवंशी/ नागदा शहर नागदा को जिला बनाने की आस लगाए बैठे क्षेत्र के लोगों…

1 day ago

उत्तर प्रदेश में अनलॉक में शादी समारोह में कितने व्यक्तियों की अनुमति होगी?

UP : शादी समारोह कानून लागू : उत्तर प्रदेश में अनलॉक में शादी समारोह में…

1 day ago

लव जिहादियों को मैं छोड़ूंगा नहीं : सीएम शिवराजसिंह चौहान

नागदा। सीएम शिवराज सिंह ने अपने उद्बबोधन में कहा कि, कांग्रेसियों ने देश को लूट…

1 day ago

देव उठनी ग्यारस पर नागदा हुआ दीपों से रोशन, महिलाओं ने बनाई रंगोली

Nagda News. देव उठनी ग्यारस पर बुधवार को नागदा में कई स्थानों पर तुलसी शालीग्राम…

2 days ago

ओशो के लेख विचार इमेज | Osho Quotes, Shayari, images in Hindi

ओशो के लेख विचार इमेज | Osho Quotes, Shayari, images in Hindi Osho/Rajneesh Quotes, Shayari, Status,…

2 days ago