गौ हत्या प्रतिबन्ध कानून लागू कराने के लिए बजरंग सेना नागदा ने ज्ञापन सौंपा

 गौ हत्या प्रतिबन्ध कानून लागू कराने के लिए बजरंग सेना नागदा ने ज्ञापन सौंपा

एसडीएम कार्यालय के बाहर ज्ञापन सौंपते बजरंग सेना सदस्य.

  • अपराधी को 10 साल की जेल और 5 लाख जुर्माना होगा.
  • अंग भंग करने पर 7 साल की जेल और 3 लाख तक जुर्माना होगा.

नागदा. बजरंग सेना नागदा सदस्यों ने गौ हत्या प्रतिबन्ध कानून को मध्य प्रदेश में लागू किए जाने की मांग को लेकर एक ज्ञापन नागदा एसडीएम पुरुषोत्म कुमार को सौंपा.

जिसमें बताया है कि, उत्तर प्रदेश की तर्ज पर मध्य प्रदेश में भी गोवध निवारण कानून, 1955 को प्रभावी तरीके से बदलते हुए लागू किया जाए.

बता दें कि, 9 जून 2020 को उत्तर प्रदेश योगी सरकार गोवध निवारण संशोधन अध्यादेश लाई थी. अध्यादेश कैबिनेट ने पास कर दिया है. उत्तर प्रदेश में कानून लागू हो चुका है.

10 साल की जेल और 5 लाख जुर्माना होगा

अध्यादेश का उद्देश्य गोकशी की घटनाओं से संबंधित अपराधों को पूर्णत रोकना है. कानून के तहत दोषी पाए जाने वाले अपराधी को 10 साल की जेल और 5 लाख जुर्माना होगा. गोवंश के अंग भंग करने पर 7 साल की जेल और 3 लाख तक जुर्माना होगा.

बजरंग सेना नगर अध्यक्ष आकाश निषाद ने जानकारी देते हुए बताया कि, मध्य प्रदेश में भी इसी प्रकार के अध्यादेश को लागू करवाए जाने के लिए बजरंग सेना नागदा सदस्यों ने मध्य प्रदेश सीएम शिवराजसिंह चौहान के नाम ज्ञापन प्रेषित किया है. सदस्यों का तर्क है कि, प्रदेश में गोवंशों के साथ अपराध की घटनाएं बढ़ गई है. जिस पर अकुंश लगाना बेहद ही जरूरी है.

यह रहे मौजूद

ज्ञापन सौंपने के एसडीएम कार्यालय नागदा पर नगर उपाध्यक्ष कीर्ति सिंह नरुका, जिला सहसंयोजक संतोष राठौर, प्रदेश उपाध्यक्ष संजय नागर, नगर मंत्री मुकेश साहनी, नगर मंत्री विकास सिंह, खाचरौद ग्रामीण मंडल अध्यक्ष दशरथ जाट, बुरानाबाद ग्राम अध्यक्ष गोकुल चौहान, राकेश राठौर, योगेंद्र लहरी, राकेश सोलंकी, कालू सिंह, रविन्द्र परमार आदि मौजूद रहे हैं.

bajrang-sena-nagda-submitting-memorandum-for-enforcement-of-cow-slaughter-ban-law
एसडीएम कार्यालय के बाहर मौजूद बरजंग सेना सदस्य.

इसे भी पढ़े :

Best रक्षाबंधन सुविचार और शायरियां | Raksha Bandhan Status in Hindi

KAMLESH VERMA

https://newsmug.in

Related post