खाचरौद में मनाही के बाद ताजिए का दीदार, 30 लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज

 खाचरौद में मनाही के बाद ताजिए का दीदार, 30 लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज

सोशल मीडिया से संग्रहित की गई फोटो।

खाचरौद । सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अनदेखी करना वर्ग विशेष के लोगो को भारी पड़ गई है। नियम के विपरित आयोजन किए जाने पर 30 लोगों पर प्रकरण और 10 लोगों को खाचरौद पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दरअसल विकासखंड खाचरौद कस्बे में एक वर्ग विशेष द्वारा सावर्जनिक आयोजन किया।

जिसे देखने के लिए संबंधित समुदाय के लोगो का हुजूम उमड़ा। खाचरौद पुलिस के प्रतिबंध के बावजूद खाचरौद में पुराना थाने के समीप एक इमामबाडे के बाहर ताजिया रखा गया।

जिसके दीदार के लिए बड़ी संख्या में समाजजन पहुंचे। बैंड बाजे भी बजाए गए। कार्यक्रम का विडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ। अन्य धर्म प्रमुख व संगठनों द्वारा विरोध किए जाने के बाद प्रशासन हरकत में आया और 30 लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया। मामला 27 अगस्त का है।

जानकारी के अनुसार मुस्लिम समाज के चल रहे मोहर्रम पर्व को लेकर समाजजनों ने एक ताजिया बाहर रख दिया। जिसको दीदार के लिए देर रात तक लोगों का हुजूम उमडता रहा।

प्रशासन ने इस तरह के आयोजन में पर रोक लगाई थी। सुप्रीम कोर्ट ने भी इस तरह के आयोजन पर प्रतिबंध लगा रखा है। आयोजन के कुछ दिन पूर्व पुलिस प्रशासन ने शांति समिति की बैठक भी आयोजित की थी जिसमें मुस्लिम व हिंदु समाज के गणमान्य नागरिक शामिल हुए थे।

बैठक में प्रशासन ने साफ निर्देश दिया था कि दोनों समुदाय के प्रमुखों द्वारा किसी भी प्रकार का कोई धार्मिक आयोजन सार्वजनिक रूप से नहीं करेगा। लेकिन उसके बावजूद भी मुस्लिम समाज ने ताजिया बाहर रख दिया।

दस लोगों को किया गिरफ्तार

मामले में 30 लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है। जिसमें 10 नामजद शेष अज्ञात है। पुलिस का कहना है कि विडिया फुटेज देखकर सबकी पहचान की जा रही है। पुलिस ने सलीम मेवाती, रफिक मेवाती,कल्लू मेवाती,नाहरा खा,पीरू मेवाती, असलम मेवाती, कुर्बान मेवाती,जाकिर ,सखावत शाह,सलाम उर्फ लालू के अलावा अन्य अज्ञात के खिलाफ भादवि की धारा 188 ,269,270,271 एवं आपदा प्रबंधन अधिनियिम की धारा 51(ख) के तहत प्रकरण दर्ज किया है।

हिंदु संगठनों ने किया विरोध

खाचरौद में हुए मामले के बाद नागदा शहर में भी विरोध प्रदर्शन हो गया। विश्व हिंदु परिषद् व बजरंग दल ने शनिवार को मुख्यमंत्री व गृहमंत्री के नाम एसडीएम कार्यालय पहुंचकर ज्ञापन दिया। जिसमें बताया गया है कि शासन, प्रशासन व न्यायालय के प्रतिबंध के बावजूद भी मुस्लिम समाज के लोग सार्वजनिक स्थान पर ताजिया का देर रात तक तेज ध्वनि में डीजे बजाए जा रहे है।

जिसे देखने के लिए बड़ी संख्या में समाजजन एकत्रित हुए। जिससे कि शासन के आदेश का उल्लघनं हुआ है। प्रशासन शीघ्र कार्यवाही कर आयोजन करने वालों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार करें।
अन्यथा संगठन सड़क पर उतरकर आंदोलन करेगा।

इस मौके पर विश्व हिंदु परिषद बजरंग दल के राकू चौधरी, मेहरबानसिंह ,दीपक चौधरी, देवेन्द्र सेन, हेमू चंदेल, महेश सोनी, रोहित खण्डावत, चेतन राठौर, संजय यादव, गजेन्द्र जैन, प्रिंस प्रजापत, मनीष परमार आदि उपस्थित थे।

after-refusing-in-khacharoud-tajeye-ka-didar-case-registered-against-30-people
सोशल मीडिया से संग्रहित की गई फोटो।

KAMLESH VERMA

https://newsmug.in

बातें करने और लिखने के शौक़ीन कमलेश वर्मा बिहार से ताल्लुक रखते हैं. कमलेश ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन से अपना ग्रेजुएशन और दिल्ली विश्वविद्यालय से मास्टर्स किया है. कमलेश दैनिक भास्कर और राजस्थान पत्रिका अखबार में सिटी रिपोर्टर पद पर कार्य चुके हैं.

Related post