General

उज्जैन कलेक्टर व एसडीएम के आदेश का समय पर नहीं हुआ पालन

ujjain collter aue nagda sdm ke aadesh par samay par nahin hua amal

10 दिन बीत जाने के बाद भी पूर्ण नहीं हुआ सर्वे

नागदा. अति बारिश से फसले नष्ट होने से प्रभावित हुए किसानों के जख्म पर महरम लगाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा दिए गए आदेश का पालन समय अवधि के बाद भी पूरा नहीं हुआ. कलेक्टर ने बारिश से प्रभावित हुई फसलों के सर्वे का आदेश दिया. यह सर्वे एक सप्ताह में पूर्ण कर रिपोर्ट सौंपने का आदेश भी दिया था.

लेकिन कलेक्टर के आदेश के 10 बाद भी कई गांव ऐसे जहां पर अभी तक राजस्व विभाग का अमला एक बार फिर नहीं पहुंचा. मंगलवार को फसलों के मुआवजे कि मांग को लेकर मंगलवार को आधा दर्जन गांव के सैकड़ों किसान फरियाद के लिए एसडीएम कार्यालय पहुंचे.

किसानों ने एसडीएम आरपी वर्मा से गुहार लगाई कि अतिवर्षा से उनकी 80 प्रतिशत फसल नष्ट हो गई है. उनके गांव में अभी तक सर्वे कार्य नहीं हुआ है. इस पर एसडीएम ने पटवारियों को तुरंत फोन कर कहा कि वे एक दो दिन में उक्त गांव में सर्वे कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें.

#यह दिया था आदेश

अति बारिश से प्रभावित हुई फसलों के सर्वे को लेकर कलेक्टर ने प्रत्येक विकास खंड में अलग-अलग टीम का गठन किया था. एसडीएम आरपी वर्मा ने 16 सितंबर को चार अलग-अलग टीम का गठन कर सर्वे करने का आदेश दिया था. एसडीएम वर्मा व कृषि विभाग के अधिकारियों ने भी 17 सितंबर को गांव में पहुंचकर निरीक्षण किया था. एसडीएम ने टीम का आदेश दिया था कि 17 सितंबर से गांव-गांव पहुंचकर सर्वे कर रिपोर्ट एक सप्ताह में प्रस्तुत करें. यह समय अवधि 23 सितंबर को समाप्त हो गई. लेकिन अभी तक टीम कई गांव में नहीं पहुंची.

#इस गांव के लोग पहुंचे सर्वे के लिए

फसल सर्वे की मांग को लेकर एसडीएम के समक्ष ग्राम टकरावदा, भाटीसुड़ा, अजीमाबाद पारदी, भीलसुड़ा, टकरावदा, अमलावदिया, लसुडिय़ा के ग्रामीण पहुंचे थे. मामले की शिकायत ग्रामीणों ने सीएम कमलनाथ, स्थानीय विधायक, उज्जैन कलेक्टर, फसल बीमा प्रबंधक, प्रधानमंत्री फसल सुरक्षा बीमा कार्यालय उज्जैन को भी भेजी हैं.

इस मौके पर पूर्व सरपंच मनोहर भारतीय, राजपालसिंह, विक्रमसिंह,रामसिंह, राधेश्याम, गोपीलाल, मोतीलाल, कमलसिंह, जसवंतसिंह, दुलेसिंह, दरबार सिंह, मोहब्बतसिंह, नाथूसिंह, दुर्गासिंह, ग्राम टकरावदा के राधेश्याम पटेल, अनोखीलाल आंजना, रमेश, फूलसिंह, दिनेश चौधरी,गोपाल, नानूराम, बालू, मुकेश, भेरुलाल, सागरबाई, केशवराम, मदन समेत चार दर्जन से अधिक ग्रामीण मौजूद थे.

मामले में एसडीएम आरपी वर्मा का तर्क है कि, बारिश से प्रभावित हुए फसलों के सर्वे का कार्य चल रहा है। कुछ गांव शेष रह गए है। मंगलवार को आधा दर्जन ग्राम के ग्रामीणों का समूह अत्यधिक वर्षा से नष्ट हो चुकी खरीफ फसलों के सर्वे के संदर्भ में ज्ञापन सौंपने पहुंचे थे.

ujjain collter aue nagda sdm ke aadesh par samay par nahin hua amal

Comment here