City Update

पुण्य से सपूत और पाप से कपूत होते हैं पैदा : कमलकिशोर नागर

sons-born-of-virtue-and-born-of-sin-are-born-kamalkishore-nagar

पुण्य से सपूत और पाप से कपूत होते हैं पैदा : कमलकिशोर नागर  Sons born of virtue and born of sin are born: Kamal kishore Nagar

नागदा। जीवन में पाप और पुण्य का बड़ा महत्व है। जिसनें मनुष्य जन्म लेकर पुण्य किया है उसके घर में सपूत पैदा होते है और पाप करने वाले के घर कपूत। पुण्य कमाने के लिए खाता और एटीएम जरुरी है।

यदि आपने पुण्य कमाया है तो खाते में जमा पुण्य काम आएगा नहीं तो एटीएम की लाइन में लगने का कोई मतलब नहीं। जब आपके खाते में पुण्य है ही नहीं तो आप लाइन में लगकर अपना समय व्यर्थ बहा रहे हैं। यह बात मालवा माटी संत Kamal kishore Nagar ने कथा के पांचवे दिन कही।

कथा का आयोजन श्रीमद भागवत कथा समिति की अगुवाई में रिंग रोड पर निजी भूमि पर किया जा रहा है। संत Kamal kishore Nagar  ने आगे कहा कि पाप का नतीजा उस वक्त नजर आता है। जब किसी परिवार में गमी हो जाती है। पुण्य करने वाले व्यक्ति को तो अपने परिजन की सेवा करने का मौका श्रणवकुमार जैसा मिलता है लेकिन जो पुण्य नहीं कर पाते वे परिवार में एनवक्त पर आते है।

वे सोचते है कि पैसे से सब कार्य हो जाते है लेकिन पैसे के साथ पुण्य भी जरुरी है। जिस प्रकार की किसी बिमारी के इलाज में टेबलेट के साथ एनटीबायोटिक लेने की आवश्यकता होती है उसी प्रकार पैसे कमाने के साथ पुण्य कमाने की भी आवश्यकता होती है। कथा सुनने के लिए पूर्व विधायक दिलीपसिंह शेखावत, नपाध्यक्ष अशोक मालवीय, उपाध्यक्ष सज्जनसिंह शेखावत, इंद्रकुंवर शेखावत पहुंचे थे।

#शांति की लिए हुआ हवन

छठे दिन प्रसंग समापन पर नगर सहित परिवार की सुख-समृद्वि एवं शांति के लिए हवन का आयोजन किया गया। जिसमें यजमान परिवार के चार जोड़ों ने शामिल होकर हवन में आहुतियां दी। यजमान परिवार के उमेश अग्रवाल ने बताया कि यज्ञ पुर्णाहुति मंगलवार को कथा समापन के साथ होगी। अंत में कथा सार एवं महाआरती कर प्रसादी का वितरण किया जाएगा।

#ये जुटे व्यवस्था में

कथा के आयोजन में व्यवस्था संभालने में ज्ञानेश्वर पोरवाल, युधिष्ठिर रघुवंशी, सतीश जैन सांवेर, सुनील दादूस, उमेश अग्रवाल, नीलेश अग्रवाल, अंतरसिंह तोमर, बसंत मालपानी, महेश राटौर, जमना मालपानी, प्रशांत राठी, जेपी मल्लाह, भीमराज मालवीय, आशीष अग्रवाल, मनीष अग्रवाल, शैलेंद्र गुप्ता, राकेश फर्नाखेड़ी, शिल्पा अग्रवाल, कमल आर्य, आयुष पोरवाल, आलोक मोहता, उमेश सेठिया, सीमा मालपानी, उर्मिला डांगरा, चेतन नामदेव, सोनू अग्रवाल, सुनील माहेश्वरी, पंकज पोरवाल, सुरेंद्र जैन, मनोज पोरवाल, गगन पोरवाल, जगदीश मेहता सहित एक दर्जन से अधिक महिला मंडल जुटे हैं।

sons-born-of-virtue-and-born-of-sin-are-born-kamalkishore-nagar

Comment here