Education

श्रावण के अंतिम सोमवार को शिवालयों ऐसे दिखे भोले

Shivalas looked naive on the last Monday of Shravan

नागदा. श्रावण माह के अंतिम सोमवार को शहर शिवभक्ति में लीन दिखा. अलसुबह से ही शिवालयों में श्रद्वालुओं की आवाजाही प्रारंभ हो गई थी. लोगों ने भोलेनाथ का अभिषेक करते हुए पूजा-अर्चना की. मंदिर परिसरों में ओम नम: शिवाय तथा बम भोले के स्वर गूंजते रहे.

दिनभर मंदिरों में भजन-कीर्तन आदि धार्मिक गतिविधियां हुई. वहीं देर शाम महादेव की सवारी भी प्रजा का हाल जानने की निकली. शहर में श्रावण के अंतिम सोमवार को भोले के भक्त भगवान की भक्ति में डूबे दिखाई दिए. शहर के अति प्राचीन मुक्तेश्वर महादेव मंदिर पर दिनभर भक्तों का तांता लगा रहा.

श्रद्वालुओं ने मुक्तेश्वर महादेव का जलाभिषेक कर पूजा-अर्चना की. रेलवे कॉलोनी स्थित मनकामनेश्वर महादेव मंदिर में पुरुषों सहित महिलाओं व बच्चों की शिव पूजा करने के लिए भीड़ लगी थी. पूजा-अर्चना का दौर अलसुबह से आरंभ होकर दोपहर तक चलता रहा.

लोगों ने जल अर्पित करते हुए धतूरा, शहद तथा पुष्प अर्पित कर आराधना. शाम को शहर में विभिन्न मंदिरों से भगवान भोलेनाथ की सवारी भी निकाली गई.मुक्तेश्वर महादेव मंदिर, पाड़ल्या कलां स्थित नर्मदेश्वर महादेव मंदिर, राम मंदिर कोटा फाटक, लक्कड़दास मंदिर आदि मंदिरों से सवारी निकली और नगर भ्रमण किया. रात को शिव मंदिरों पर आकृर्षण श्रृंगार किया गया.

Shivalas looked naive on the last Monday of Shravan

Comment here