City Update

नागरिकता संशोधन कानून का विरोध कर कहा- जिन्होंने दुकान खोलकर भारत बंद में साथ नहीं दिया, उनका बहिष्कार

opposing-the-citizenship-amendment-act-said-boycott-those-who-did-not-support-india-bandh-by-opening-shop

नागरिकता संशोधन कानून का विरोध कर कहा- जिन्होंने दुकान खोलकर भारत बंद में साथ नहीं दिया, उनका बहिष्कार | Opposing the Citizenship Amendment Act, said – boycott those who did not support India bandh by opening shop

नागदा . जिन्होंने दुकान खोलकर भारत बंद में हमारा-आपका समर्थन नहीं किया है, अब उनका बहिष्कार करना है। 30 जनवरी यानि गुरुवार से ही अपने घर की महिलाओं को बोल दे कि जिन्होंने हमारा साथ नहीं दिया है, अब हमें  उनका साथ नहीं देना है। हमारा विरोध करने वालों का हम विरोध नहीं कर सकते है, परंतु उनकी आर्थिक स्थिति को कमजोर कर सकते है, इसलिए गुरुवार से ही सामान की खरीदी उन दुकानों से करें, जो हमारे साथ हमारे हक के लिए खड़े है।

यह बात बहुजन क्रांति मोर्चा के भारत बंद आह्वान पर बुधवार को नगर बंद के लिए निकाले जुलूस समापन पर इमामबाड़े पर संबोधित कर मोर्चा के संभागीय संयोजक रामचंद्र परमार ने कहीं। भीम आर्मी के सलमान ने भी समापन जुलूस को संबोधित किया। सुबह 9 बजे से निकला जुलूस, 2 घंटे शहरभर में घूमा बहुजन क्रांति मोर्चा के बैनर तले मुस्लिम समाज, अजा-अजजा सहित अन्य बुधवार सुबह 9 बजे इमामबाड़ा में एकत्रित हुए।

यहां से जुलूस की शुरुआत हुई, जो शहर के मुख्य बाजार से होकर बस स्टैंड पहुंचे। जवाहर मार्ग, सरकारी अस्पताल चौराहा, सब्जी मंडी, रानी लक्ष्मीबाई मार्ग, जन्मेजय मार्ग होकर जुलूस दो घंटे में इमामबाड़ा पहुंचा।

यहां सभा के बाद जुलूस का समापन किया गया। जुलूस को लेकर एसडीएम आर.पी. वर्मा, सीएसपी मनोजर रत्नाकर ने मंडी थाने में बैठकर व्यवस्था देखी। वहीं थाना प्रभारी श्यामचंद्र शर्मा, तहसीलदार विनोद शर्मा जुलूस के साथ पुलिस बल के साथ चलते रहे। 

धारा 144 का हुआ उल्लंघन

बंद के आंदोलन को देखते हुए प्रशासन ने धारा 144 लागू कर रखी है। इस धारा के तहत कोई भी आंदोलन व रैली बिना अनुमति के निकाला प्रतिबंध है। लेकिन उसके बावजूद भी बुधवार को शहर में सैकड़ों लोगों ने रैली निकाली और व्यापारियों को धमकी भी दी।

सुबह 8:45 बजे कुछ युवाओं ने शासकीय अस्पताल चौराहा पर एक ऑटो चालक को भी डरया धमकाया और आंदोलन में शामिल होने का कहते हुए ऑटो नहीं चलाने के लिए गाली गलौच की।

यहां दिखा बंद का असर

बंद का असर मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र जामा मस्जिद रोड, चंबल मार्ग, किल्की पुरा, बिरलाग्राम में गंदा नाला व ट्रासप्रोर्ट नगर में देखने को मिला। इन क्षेत्रों की अधिकांश दुकाने दिनभर बंद रही। साथ ही मुस्लिम समाज के ऑटो चालकों ने भी ऑटो नहीं चलाए, जिससे स्कूल के बचों को परेशान होना पड़ा।

आंदोलनकारियों ने रैली कन्याशाला चौराहा, एमजी रोड, ओझा मार्ग, रानी लक्ष्मीबाई मार्ग, जवाहर मार्ग, पुराना बस स्टैंड, रामसहाय मार्ग, चंबल मार्ग, पुरानी नपा चौराहा होते हुए चंबल मार्ग स्थित इमामबाड़े पर पहुंची।

यहां पर एक सभा हुई। जिसे रामचंद्र परमार व कई मुस्लिम नेताओं ने भी संबोधित किया। बंद को लेकर एसडीएम आरपी वर्मा, सीएसपी मनोज रत्नाकर, तहसीलदार विनोद शर्मा, अन्नू जैन, थाना प्रभारी शर्मा आदि ने शहर का भ्रमण किया।

 

opposing-the-citizenship-amendment-act-said-boycott-those-who-did-not-support-india-bandh-by-opening-shop

Comment here