City Update

नागदा : शिवरात्री मेले में इस बार निलाम होगी दुकान

nagda-shop-will-be-auctioned-this-time-at-shivratri-fair

30 साल से चली आ रही आवंटन प्रकिया में होगा बदलाव | Nagda: Shop will be auctioned this time at Shivratri fair

नागदा। चंबल तट पर स्थित मुक्तेश्वर महादेव मंदिर परिसर में प्रतिवर्ष लगने वाली शिवरात्री मेले में इस बार दुकानों के आवंटन कि प्रकिया में बदलाव किया। अब दुकानों कि निलामी कि जाएगी। जिससे व्यापारियों द्वारा कि जा रही कालाबाजारी पर रोक लगेगी। अभी तक मेले में लगभग 30 वर्ष से दुकानों का आवंटन एक तरह से होता आ रहा था।

जिससे कोई नया व्यापारी दुकान नहीं लगा पा रहा था। सोमवार को राजस्व, नपा, पुलिस व कांग्रेस नेताओं ने मेला स्थल का निरीक्षण किया। निरीक्षण के बाद मेला स्थल को समतल करने का कार्य भी प्रारंभ हो गया। मेला स्थल पर झूले आने का सिलसिला भी प्रारंभ हो गया।

इस वर्ष शिवरात्री का मेला 19 से 25 फरवरी तक आयोजित होगा।  मेले का आयोजन नपा द्वारा किया जाता है। मेले में इस वर्ष भी सांस्कृतिक कार्यक्रम भजन संध्या, लाफ्टर शो, तेजाजी महाराज की कथा आदि आयोजन होगे। लेकिन कलाकार अभी तक तय नहीं किए गए।

कैसे होगी दुकानों की निलामी

मेले में कुल 83 दुकानों का आवंटन होता है। इन में रेस्टोरेंट, खिलौने, जनरल स्टोर, रिंग आदि की दुकान शामिल है। प्रत्येक दुकान 112 स्वेयर फीट यानी 7.5*15 वर्ग फीट की होगी।  प्रशासन द्वारा दुकानों की बोली के लिए न्यूनतम दर 5 रु स्वेयर फीट निर्धारित कि गई है। अभी तक दुकानों के दर नपा द्वारा निर्धारित कर रखी थी। लेकिन इस साल नपा में प्रशासक होने से मेले कि दुकानों की आवंटन प्रकिया में बदलाव किया गया है। प्रशासन द्वारा इस बार झूले, चक्करी, मौत का कुंआ के किराए में भी बढ़ौतरी कि जा रही है।

किसी को लाभ तो किसी को नुकसान

शहर में शिवरात्री मेले के शुुरुआत लगभग 3 दशक पहले पूर्व नपा अध्यक्ष बालेश्वर दयाल जायसवाल द्वारा कि गई थी। तब से दुकानों का किराया में प्रति वर्ष मामूली बढ़ौतरी होती थी, जिससे एक व्यापारी को दुकान महज 800 से 1000 रु में पूरे मेेले के लिए मिल जाती थी।

दुकान भी पूरानी सूची के अनुसार उक्त व्यापारियों को मिलती थी। इन में से कई व्यापारी ऐसे थे, जो दुकान नहीं लगाते थे और उनकी दुकान किसी अन्य को 3000 से 4000 रु बेच देते थे। जिससे नपा को नुकसान होता था, लेकिन अब ऐसा नहीं हो सकेगा। दुकानों कि निलामी होने से व्यापार करने वाला व्यापारी ही दुकान ले सकेगा। जिससे कालाबाजारी पर रोक लगेगी। लेकिन यदि निलामी बोली में अधिक बोली लगी तो उसका असर वस्तुओं पर पढ़ेगा।

किया निरीक्षण

मेला स्थल का निरीक्षण एसडीएम आरपी वर्मा, सीएसपी मनोज रत्नाकर, तहसीलदार विनोद शर्मा, नपा अधिकारी बसंत रघुवंशी, मनोज पंवार, थाना प्रभारी श्यामचंद्र शर्मा, जिला कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष सुबोध स्वामी, ब्लॉक अध्यक्ष दीपक गुर्जर, कांग्रेस नेता शंकर प्रजापत, संदीप चौधरी, कमलेश चावड़, कल्याणसिंह कुशवाह आदि मौजूद थे।

nagda-shop-will-be-auctioned-this-time-at-shivratri-fair

Comment here