Latest News in Hindi Nagda

कुख्यात बदमाश लाला दस माह बाद गिरफ्तार, एसपी के जाते ही पुलिस ने दिखाए रंग ,लाला समेत राजस्थान के हिस्ट्री शिटर भी धराया

nagda-news-reward-notorious-crook-lala-arrested-after-ten-months-as-soon-as-sp-went-away-the-police-also-showed-the-color-lala-and
ईनामी कुख्यात बदमाश लाला दस माह बाद गिरफ्तार
एसपी के जाते ही पुलिस ने दिखाए रंग ,लाला समेत राजस्थान के हिस्ट्री शिटर भी धराया
नागदा। दस माह बीस दिन से फरार ईनामी कुख्यात बदमाश सलमान पिता शेरु लाला आखिरकार नागदा पुलिस के हत्थे चढ़ ही गया। एसपी सचिन अतुलकर की रवानगी होते ही 10 माह से फरार बदमाश का पुलिस के हत्थे चढना कहीं न कहीं पुलिस की कार्यप्रणाली पर प्रश्न चिन्ह खडे कर रहा है।
पुलिस ने बदमाश लाला के साथ उसके चार अन्य साथियों को भी गिरफ्तार किया है। साथ ही पुलिस ने मौके से काफी मात्रा में जिंदा कारतूस व हथियार भी जब्त किए है।
पकडाए गए आरोपियों में दो आरोपी राजस्थान के मोस्ट वांटेड है। उक्त दोनों आरोपियों ने कुछ दिन पूर्व राजस्थान में एक पुलिस आरक्षक पर हमला किया था तब से आरोपी नागदा में फरारी काट रहे थे।
इन आरोपियों को नागदा में सलमान लाला ने शरण दे रखी थी। इन आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए कई बार राजस्थान पुलिस ने नागदा में दबिश भी दी है।
सलमान लाला की गिरफ्तारी के बाद शहर के व्यापारियों में राहत की सास ली। गौरतलब है कि लगभग 10 माह से फरार चल रहे लाला की गिरफ्तारी के लिए कई बार हिंदु जागरण मंच ने भेरुलाल टांक के नेत्तृव में आंदोलन भी किए व समय समय पर प्रशासन से मांग भी की।
लेकिन सत्ता पक्ष के दबाव में लाला पुलिस से भागता फिर रहा था। प्रदेश में दो माह पूर्व हुए सत्ता परिवर्तन होने के बाद ही लाला की गिरफ्तारी के प्रयास भी तेज हो गए थे। हांलाकि पुलिस ने अभी गिरफ्तारी का खुलासा नहीं किया लेकिन पुष्टि जरूर की है।
दो दिन पहले पूर्व विधायक दिलीपसिंह शेखावत ने भी पुलिस प्रशासन के आला अधिकारियों के साथ बैठक कर आरोपी कि गिरफ्तारी की मांग की थी।

10 हजार का ईनाम घोषित 

सलमान लाला क्षेत्र का कुख्यात बदमाश है। लाला पर 08 प्रकरण दर्ज है। इनमें दो प्रकरण भादवि धारा 307 की है व एक प्रकरण पुलिस पर हमले का भी है।
लाला ने 19 जुन 2019 को शहर के व्यापारी प्रेम राजावत प्राण घातक हमला किया था लाला ने पहले प्रेम को फोन कर धमकी दी थी।
जब प्रेम ने इसकी रिपोर्ट दर्ज करवाई तो लाला ने अपने गुंडे भेजकर प्रेम पर करीब 15 से 20 चाकुओं से वार किया था। लाला द्वारा प्रेम पर जबरन ढाबे की जमीन के रजिस्ट्री का दबाव बना रहा था।
मना करने पर लाला ने व्यापारी राजावत पर हमला किया था। इस घटना के विरोध में 21 जुन को हिंदु जागरण मंच ने शहर बंद का आव्हान भी किया था।
घटना के कुछ दिन बाद पुलिस ने लाला के चार साथी सद्दाम, गुलफाम, आमिर खान, युनुस को गिरफ्तार कर लिया था जबकि लाला तब से  फरार चल रहा था। सभी आरोपियों पर पुलिस ने धारा 307 में प्रकरण दर्ज किया था। हिंदु जागरण मंच के विरोध के बाद पुलिस प्रशासन ने लाला पर 10 हजार का ईनाम घोषित किया था।

फिल्मी स्टाई में पकड़ा 

नागदा पुलिस को तीन दिन से सूचना मिल रही थी कि लाला नागदा में आ जा रहा है व चंबल मार्ग पर अपने नए मकान में रात गुजार रहा है।
पुलिस लगातार उसकी लॉकेशन ले रही थी। शनिवार सुबह 6 बजे करीब पुलिस ने लाला को गिरफ्तार करने के लिए दंबिश दी लगभग एक दर्जन से अधिक पुलिस जवान बंदूक लेकर मकान को चारों और से घेर लिया।
लेकिन लाला ने मकान के अंदर व बाहर से ताला लगा रखा था ताकि किसको शंका न हो। पुलिस ने सुबह 7 बजे नपा की टंकी परिसर से दमकल की सीडी मंगवाइ व मकान के ऊपर चढ़े एवं नीचे उतरी व उस कमरे में जा घुसी जहां लाला अपने साथियों के साथ सो रहा था।
पुलिस को देख लाला दंग रह गया और आत्मसर्पण कर दिया। पुलिस को मौके से काफी मात्रा में हथियार भी मिले। पुलिस ने लाला के साथ दो भाई रेहान लाला व सलमान पिता रईस अहमद दोनों निवासी गांव नौगावा तहसील अरनोद जिला प्रतापगढ़ ,इमरान पिता ऐरान लाला निवासी गांव देवलजी तहसील अरनोद जिला प्रतापगढ, अलफेज पिता नजीम लाला निवासी जावरा जिला रतलाम को गिरफ्तार किया है। इन आरोपियों में शामिल दो भाई रेहान व सलमान पर  गांव नोगावा तहसील अरनोद  के थाने पर कई प्रकरण दर्ज है।
इन दो भाईयों ने 11 मार्च 2020 को अरनोद थाने क्षेत्र के नोगांवा चौकी पर पदस्थ पुलिस आरक्षक रामअवतार पर फायर किया था। उस समय पुलिस ने दोनों भाईयों को गिरफ्तार करने गई थी । यह दोनों भाई अरनोद थाने के हिस्ट्री शिटर है।
पुलिस पर किया था हमला 
लाला ने फरारी के दौरान उज्जैन पुलिस पर हमला भी किया था। जुलाई 2019 में उज्जैन पुलिस को पुलिस को सूचना मिली थी कि लाला खाचरौद में घुम रहा है।
जिस पर पुलिस ने दबिश दी थी लेकिन लाला पुलिस पर हमला कर फरार हो गया था उस समय लाला के साथ खाचरौद के तात्कालिन थाना प्रभारी शिव रघुवंशी व उनका एक साथी भी था। पुलिस प्रशासन ने घटना के बाद थाना प्रभारी को सस्पेंड भी कर दिया था।
एसपी के जाते ही पुलिस दिखी रंग में 
लाला की गिरफ्तारी के बाद शहर मे इस तरह की चर्चा चल रही है कि लाला को पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों का सहयोग मिल रहा था जिस कारण स्थानीय पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर पा रही थी।
जैसे ही उज्जैन एसपी का स्थानंतरण हुआ नागदा पुलिस ने शहर बदमाशों की छानबीन शुरू कर दी। पुलिस तीन दिन से लगातार शराब भी जब्त कर रही है और शनिवार को लाला को गिरफ्तार कर पुलिस ने शहरवासियों को राहत दी।
गौरतलब है कि पूर्व में भी कई बार पुलिस को लाला की व शराब माफियाओं की सूचना दी जा रही थी लेकिन पुलिस इनको गिरफ्तार नहीं कर पा रही थी।
कौन है लाला 
लाला के पिता शेरूलाल किसी समय नागदा क्षेत्र के कुख्यात गुंडा था। वर्ष 1997 में इंदौर पुलिस ने शेरूलाला का इंदौर क्षेत्र में एनकांउटर कर दिया था। सलमान लाला अपने पिता के नक्शे कदम पर चल रहा था।
सलमान के क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों व राजनेताओं से संबंध भी है । विधानसभा चुनाव के दौरान लाल ने कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन में प्रचार प्रसार भी किया था।
सलमान लाला की गिरफ्तारी का खुलासा एडीशनल एसपी के द्वारा किया जाएगा। अभी उससे पुछताछ जारी है। 
सीएसपी 
मनोज रत्नाकर ,नागदा 
    सलमान लाला

Comment here