नागदा : सेल्फी के चक्कर में जाल रहे जान जोखिम में

0
77

नागदा. नवरात्र पर्व में भक्तों की सुरक्षा को लेकर प्रशासन द्वारा किए गए सारे दावे व आश्वसन नवरात्र उत्सव के प्रथम दिन रविवार को ही फ्लाप हो गए. शहरवासियों का आस्था का केंद्र चंबल नदी पर तट पर स्थित मां चामुंडा माता मंदिर पर रविवार को प्रशासन की अनदेखी को मिली है.

Nagda: Life in danger due to selfie affair
नदी के पुल पर बैठकर बालक उफनती नदी में पैर डाले हुए।

चंबल नदी के उफान पर होने पर भी कई भक्त नदी किनारे पर जान जोखिम में डालकर सेल्फी लेते रहे व मौज मस्ती करते रहे. गनीमत रही कि कोई जनहानी नहीं हुई. इन भक्तों को रोकने के लिए प्रशासन को कोई भी कर्मचारी या जवान आगे नहीं आया.

Nagda: Life in danger due to selfie affair

जबकि नदी पर प्रशासन ने पुलिस जवान तैनात कर रखे है, ताकि कोई भी भक्त पानी के समीप नहीं जाए. साथ ही पुलिस ने नदी के पुल पर बैरिकेड्स भी लगाए है, लेकिन वहां पर मौजूद जवान किसी को भी अंदर जाने से नहीं रोक रहे हैं.

#प्रशासन के दावे हुए झूठे

नवरात्र पर्व को लेकर स्थानिय प्रशासन ने 27 सितंबर को एक बैठक आयोजित कि थी. बैठक में यह तय गया था कि नवरात्र में चंबल नदी के उफान पर होने से वहां पर पुलिस जवान व नपा के कर्मचारियों को तैनात किया जाएगा.

Nagda: Life in danger due to selfie affair

ताकि कोई भी व्यक्ति नदी के किनारे पर तथा पानी में नहीं जाए. तथा मंदिर पर पानी होने पर नदी के समीप पुल के पास अस्थाई रुप से मंदिर बनाया जाएगा. लेकिन प्रशासन का यह दावा झूठा हो गया. भक्त निर्देशों की अनदेखी करते हुए मंदिर के सामने बने छोटी रपट पर जाकर सेल्फी ले रहे हैं. यहां तक कि कुछ नाबालिक मोबाइल में गुम होकर नदी के उफनते पानी में पैर डाल रहे हैं.

Nagda: Life in danger due to selfie affair

नदी का जलस्तर धीरे-धीरे बढ़ रहा हैं, बावजूद आमजन सेल्फी के चक्कर में नदी के बढ़ते पानी की अनदेखी कर रहे हैं. कई महिला व युवतीयां भी नदी पर बने पुल के किनारे पर सेल्फी ले रही है. ऐसे में यदि एक हवा का झोका या बेलेंस बिगड़ा तो उन कि जान जोखिम में जा सकती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here