Crime News

नागदा : अतिक्रमण मुक्त हुए एप्रोच रोड, टूटती दुकान देख संचालक मांगने लगे मोहलत

nagda-encroachment-free-approach-road-operators-see-deferment-after-seeing-a-broken-shop

नागदा : अतिक्रमण मुक्त हुए एप्रोच रोड, टूटती दुकान देख संचालक मांगने लगे मोहलत Nagda: Encroachment-free Approach Road, operators see deferment after seeing a broken shop

नागदा. एप्रोच रोड पर सालों से जमा अतिक्रमण को शुक्रवार शाम 5 बजे रतलाम मंडल के सेक्शन इंजीनियर एके महावर की टीम ने बलपूर्वक हटवा दिया। मुहिम सीपीडब्लूआई (इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट का अंग) ने की। कार्रवाई के पहुंचे 20 गैंग कर्मचारियों ने दुकानों पर लोहे की सब्बल चलाना शुरू कर दिया।

nagda-encroachment-free-approach-road-operators-see-deferment-after-seeing-a-broken-shop

एप्रोच रोड पर मौजूद स्थाई लोहे की गुमटियों को टीम ने संबल से उखाड़ फेका। कर्मी अतिक्रमण की सामग्री को जब्त कर ले गए है। जिसे रतलाम मंडल के कोर्ट से छुड़वाया जा सकेगा। कार्रवाई के दौरान किसी भी प्रकार का विवाद नहीं हुआ।

रोड पर मौजूद 8 लोहे की स्थाई दुकानों को गैंग कर्मचारियों ने बिना मोहलत दिए बलपूर्वक हटा दिया। टीम की कार्रवाई इतनी तेज थी कि, अतिक्रमणकर्ता दुकानों से सामान तक नहीं निकाल पाए।

nagda-encroachment-free-approach-road-operators-see-deferment-after-seeing-a-broken-shop

कार्रवाई में एक सैलून, दो चाय नाश्ता होटल, तीन पान की गुमटियां, एक ढाबे में मौजूदा सामग्री को नुकसान पहुंचा है।

आरपीएफ प्रभारी एमआर अंसारी द्वारा पुवाडिय़ा पहुंच मार्ग पर बसे 20 खाना बदोश परिवार के लोगों को दो दिन की मोहलत दी है। नई गुमटी के मालिक फिरोज आजम ने अफसरों से गुहार लगाते हुए गुमटी को नुकसान नहीं पहुंचाए जाने का अनुरोध किया। संचालक द्वारा क्रेन की सहायता से गुमटी को उठवाया गया।

गुमटी क्षतिग्रत नहीं होने की खुशी में आजम ने गुमटी की छत पर चढ़े युवक को नीचे उतारना मुनासीब नहीं समझा। गुमटी को क्रेन से उठवाकर इंगोरिया रोड की ओर ले जाया गया।

nagda-encroachment-free-approach-road-operators-see-deferment-after-seeing-a-broken-shop

दुकानों को हटता देख खानाबदोशी रानी और उसकी आठ वर्षीय बालिका नेहा ने मिट्टी के घर पर लगी प्लास्टिक को हटाना शुरू कर दिया। घर टूटता देख नेहा रोने लगी। लेकिन अपनी मां का हाथ बटाने से पीछे नहीं हटी। आरपीएफ ने बाद में उन्हें दो दिन की मोहलत दे दी।

Comment here