Latest News in Hindi Nagda

नागदा जिला : ऐसा रहेगा प्रस्तावित जिले का स्वरूप

Nagda district: the nature of the proposed district will remain like this

नागदा जिला बनाए जाने की मांग साल 2008 से उठ रही थी. मांग विधायक दिलीपसिंह गुर्जर द्वारा उठाई गई थी. बुधवार को सीएम कमलनाथ ने जिले के प्रस्ताव को स्वीकृति दे दी. प्रस्तावित नागदा जिले के स्वरूप में 3 विकासखंड व 6 तहसील शामिल होंगे. जिसमें आलोट, महिदपुर व खाचरौद -नागदा विकासखंड हैं.

इसी प्रकार तहसील नागदा, खाचरौद, आलोट, ताल, महिदपुर सिटी व उन्हेल को शामिल किया जाएगा. जिला बनने के बाद ताल, उन्हेल को तहसील का दर्जा मिलेगा.

नागदा को जिला बनाए जाने की मांग तत्कालीन विधायक दिलीपसिंह गुर्जर साल 2008 में विधानसभा में की थी. जिसके बाद साल 2011 में दोबारा गुर्जर ने जिला बनाए जाने की मांग उठाई.

मांग पर तत्कालीन राजस्व मंत्री कमल पटेल ने साल 2012 में क्षेत्र का परीक्षण करवाया. उक्त परीक्षण साल 2011 की जनगणना के आधार पर किया गया.

जिले में 4 तहसील को जोड़ा गया साथ ही कुल आबादी 6 लाख 92 हजार 519 सामने आई. नागदा तहसील की आबादी 2 लाख 92 हजार 134 आई. परीक्षण कर जिला प्रशासन ने 8 अप्रैल 2012 को रिपोर्ट को दोबारा विधानसभा में भेजा.

हुआ यूं कि, 11 मई 2012 को राज्य शासन जिले की मांग का प्रस्ताव निरस्त कर दिया. जिसके बाद 30 अप्रैल 2010 को तत्कालीन नगर पालिका अध्यक्ष शोभा यादव ने जिला बनाने का प्रस्ताव नगर पालिका परिषद की एक बैठक में सर्वानुमति से पास किया.

18 मार्च 2020 की शाम विधायक गुर्जर ने प्रेस वार्ता आहुत कर बताया कि, साल 1993 में नागदा को तहसील का दर्जा उनके द्वारा प्रयास कर दिलवाया गया. जिसके बाद साल 2020 में नागदा को जिला का दर्जा दिलवाया गया है.

Nagda district: the nature of the proposed district will remain like this

Comment here