Latest News in Hindi Indore

लॉकडाउन : 35 दिन से गुजरात में फंसे थे 26 विद्यार्थी

There were 26 students and 02 teachers in Kutch, Gujarat since last 35 days due to the lockdown.

गुजरात में फंसे नवोदय विद्यालय के विधार्थी व शिक्षक मध्य प्रदेश लौटे
लॉकडाउन के चलते गत 35 दिन से गुजरात के कच्छ में थे 26 विद्यार्थी व 02 शिक्षक

नागदा।  कोरोना वायरस के चलते देश में लॉकडाउन होने से विभिन्न प्रांत में 177 नवोदय विद्यालयों के सैकड़ों विद्यार्थी अब अपने-अपने प्रदेशो तक पहुंचने लगे है।

गांव बुरानाबाद में स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय के भी 26 विधार्थी व 2 शिक्षक शुक्रवार देर रात 2 बजे अपने विद्यालय में पहुंच गए। यह विद्यार्थी गत 35 दिन से गुजरात के कच्च में फंसे हुए थे।

विद्यार्थियों के सकुशल विद्यालय लौटने पर पालकों व अभिभावकों ने राहत की सांस ली और शनिवार सुबह 5 बजे से ही विद्यालय मिलने पहुंच गए।

रात को विद्यालय पहुंचने के बाद स्वास्थ्य विभाग द्वारा समस्त विद्यार्थियों का चेकअप किया गया। शनिवार दोपहर03 बजे समस्त विद्यार्थियों व उनके पालकगणों को रवाना कर दिया।

कोरोना के चलते प्रशासन ने समस्त पाकलों को आदेश दिया है कि वे अपने विद्यार्थियों को 14 दिन के लिए अपने घर में ही कोरोनटाइन करे। प्रशासन ने विद्यालय को भी सेनेटाईज किया है। यह विद्यार्थी उज्जैन-आलोट संसदीय क्षेत्र के सांसद अनिल फिरोजिया की पहल से अपने विद्यालय लौट सके।

कैसे फंसे थे बच्चे गुजरात में

गौरतलब है कि नवोदय विद्यालय में प्रतिवर्ष माइग्रेशन नीति के तहत  कक्षा 9वीं के कुल छात्रों का 30 प्रतिशत छात्रों को एक प्रांत से दूसरे प्रांत के नवोदय विद्यालय में अध्ययन के पहुंचाया जाता है।

यह अध्ययन लगभग 1 वर्ष तक चलता है। यह प्रकिया देश के सभी नवोदय विद्यालयों में होती है। इस वर्ष बुरानाबाद नवोदय के 24 विद्यार्थी, जिसमें 08 छात्रा व 16 छात्र को अध्ययन के लिए गुजरात के कछ में भेजा गया था। इन में 2 शिक्षक भी शामिल थे।

इनको अध्ययन के लिए जून 2019 में गए थे, लेकिन अक्टूबर 2019 में दीपावली पर्व के अवकाश में बुरानाबाद आ गए थे। पुन:10 नवम्बर 2019 से 20 मार्च 2020 तक कि अवधि के लिए गए थे। लेकिन 20 मार्च से देश में ट्रेन बंद होने से यह विद्यार्थी कछ थे।

बुरानाबाद नवोदय में भी गुजरात के विद्यार्थी अध्ययन के लिए आए थे। यहां से 20 मार्च को ही रवाना कर दिया गया, लेकिन कच्च से बुरानाबाद के विद्यार्थी नहीं आ सके।

सांसद की पहल रंग लाई

देशभर में संचालित होने वाले 177 नवोदय विधालयों के सैकड़ों विद्यार्थी दूसरे प्रदेशों में फंस गए थे। जिसमें बुरानाबाद के विद्यार्थी भी शामिल थे।

इस संदर्भ में बुरानाबाद विद्यालय प्रबंधन ने अप्रैल माह में सांसद प्रतिनिधि प्रकाश जैन से चर्चा कि थी। जिसके बाद 16 अप्रैल को सांसद सांसद अनिल फिरोजिया ने इन विद्यार्थियों को सुरक्षित रूप से इनके घर पहुंचाने के केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक को पत्र लिखा था।

इस पत्र के बाद वे लगातार मंत्रालय के संपर्क में रहे,वे बुरानाबाद बाद के लिए रवाना हुए विद्यार्थियों की भी लगतार फोन पर जानकारी लेते रहे है।

कच्छ गुजरात में फंसे इन विधार्थियों को अनुमति मिलने के बाद गुरुवार गुरुवार-शुक्रवार की रात 03 बजे वहां से रवाना किया गया। ये बच्चे करीब 20 घंटे का सफर तय कर शुक्रवार-शनिवार की रात करीब 2 बजे बुरानाबाद पहुंचे।

इस सफर में लोकडाउन के चलते इनकी बस को जगह जगह रोका गया, लेकिन हर बार खाचरौद प्रशासन वहां के डियूटी पर तैनात अधिकारियों से बात कर इस बस को आगे बड़वाता। खाचरोद एसडीएम व तहसीलदार दोनों पूरे समय स्वास्थ्य अमले के साथ यहां मुस्तेद रहे।

रात को बस के विद्यालय पहुंचते ही यहां पूर्व विधायक दिलीपसिंह शेखावत, सांसद प्रतिनिधि प्रकाश जैन, भाजपा मंडल अध्यक्ष सीएम अतुल ने विद्यार्थियों व उनके परिजनों से बातचीत कर कुशलचेम पूछी।

गुजरात में फंसे हमारे विद्यालय के समस्त विद्यार्थी देर रात को सकुशल विद्यालय लौट आए। सभी की जांच कर शनिवार दोपहर को उनके परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया है।
डॉ केबी गुप्ता
उपप्राचार्य, जवाहर नवोदय विद्यालय, बुरानाबाद

There were 26 students and 02 teachers in Kutch, Gujarat since last 35 days due to the lockdown.
बस से उज्जैन के नागदा पहुँचे विद्यार्थियों का समूह।

Comment here