Education

गगनयान और चंद्रयान-3 को लेकर ISRO ने किये बड़े ऐलान

isro-has-made-big-announcements-regarding-gaganyaan-and-chandrayaan-3

गगनयान और चंद्रयान-3 को लेकर ISRO ने किये हैं बड़े ऐलान  | ISRO has made big announcements regarding Gaganyaan and Chandrayaan-3

गगनयान जिसे अंतरिक्ष में भारत का पहला मानव मिशन कहा जाएगा. मिशन को लेकर इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइज़ेशन (ISRO) की अगुवाई में जोरो शोरों से तैयारियां की जा रही है. IRSO चीफ के सिवन ने 1 जनवरी बयान जारी करते हुए कहा है कि, गगनयान के लिए चार अंतरिक्ष यात्रियों का चयन किया जा चुका है.

जिनकी ट्रेनिंग जनवरी के तीसरे सप्ताह के बाद से अधिकारिक रुप से शुरु करवा दी जाएगी. ट्रेनिंग रुस में पूरी होगी. गगनयान मिशन को अंतरिक्ष में भेजे जाने की घोषणा साल 2018 में पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा की जा चुकी है. घोषणा 15 अगस्त 2018 को ध्वजारोहण कार्यक्रम में की गई थी.

गगनयान मिशन को लेकर एक कैप्सूलनुमा अंतरिक्षयान तैयार किया जा चुका है, यान सवार होकर तीन एस्ट्रोनॉट्स अंतरिक्ष में भेजे जाएंगे. मिशन के दौरान तीनों एस्ट्रोनॉट्स सात दिन तक रुकेंगे. यदि मिशन सफल रहा तो भारत अंतरिक्ष में इंसान भेजने वाला

विश्व का चौथा देश बन जाएगा. इससे पूर्व अंतरिक्ष में रुस ने इंसान भेजा था. साथ ही अमेरिका और चीन इंसान को अंतरिक्ष भेजने में सफल रह चुके हैं. वायुसेना के पूर्व पायलट राकेश शर्मा अंतरिक्ष में भेजे जाने वाले पहले और एकमात्र भारतीय हैं.

2018 में केंद्र सरकार द्वारा जारी किए गए बयान में खुलासा किया गया था कि, गगनयान मिशन में 100 अरब रुपए का खर्च आएगा. सिवन की मानें तो गगनयान के सिस्टम्स की टेस्टिंग जारी है. यान के अहम कार्यों में चयन किए गए तीनों एस्ट्रोनॉट्स की ट्रेनिंग साल 2020 की सबसे बड़ी एक्टिविटी होगी. 2022 में गगनयान मिशन को लॉन्च किए जाने की योजना है.

भारत के अगले मून मिशन चंद्रयान 3 को भी अप्रूवल मिल गया है. मिशन 2021 में लॉन्च किया जाएगा. चंद्रयान 2 की तरह ही चंद्रयान 3 में एक लैंडर, एक रोवर और एक प्रोपल्शन मॉड्यूल रहेगा. चंद्रयान 3 मिशन 250 करोड़ रुपये में पूरा हो जाएगा.

isro-has-made-big-announcements-regarding-gaganyaan-and-chandrayaan-3
2022 में गगनयान अंतरिक्ष में भेजा जाएगा. ये भारत का पहला मानव मिशन होगा.

Comment here