Biography

आईपीएस अपराजिता राय का जीवन परिचय

ips-aparajita-rai-biography

पुरुषों के साथ भारतीय महिलाएं कंधे से कंधा मिलाकर चल रही है. दुनिया की ऐसी कोई फिल्ड नहीं है, जहां पर महिलाओं ने अपना परचम नहीं लहराया हो. 28 वर्षीय अपराजिता राय (Aparajita Rai). नाम तो सभी ने सुना होगा.

1958 बैच से होकर Sikkim से पहली महिला IPS बनने का गौरव प्राप्त है. साल 2010 में सिविल सर्विस की परीक्षा में पहले प्रयास में ही 768वीं रैंक हासिल कर चुकी है.

लेकिन राय को उक्त रैंक रास नहीं आई जिसके बाद इन्होंने दोबारा परीक्षा देकर साल 2011 में 358 रैंक हासिल की. ट्रैनिंग के दौरान राय को बेस्ट लेडी आउटडोर ट्रॉफी से नवाजा जा चुका है.

Biography

लॉ एंड ऑडर को हमेशा सर्वोपरि रखने वाली अपराजिता पश्चिम बंगाल में काफी चर्चित है. फील्ड कॉम्बेट के लिए इन्हें श्री उमेश चंद्र ट्रॉफी, ट्रॉफी फार बीट टर्नआउट व पश्चिम बंगाल सरकार की ओर से भी सम्मानित किया जा चुका है.

कीर्तिदा मिस्त्री (अभिनेत्री) का जीवन परिचय

आर्थिक तंगी और पिता की मृत्यु के बाद भी राय ने आईपीएस बनने की जिद नहीं छोड़ी. स्कूल समय से मेधावी छात्र थी. कक्षा 12 वीं बोर्ड में 95 प्रतिशत अंक अर्जित कर प्रदेश में टॉप रह चुकी है. राय ने आर्थिक संकट के दौर में भी निरंतर पढ़ाई को जारी रखा.

नृत्य में बेहद रुचि रखती है. पिता भी देश सेवक होने के साथ ही वन विभाग में डिविजन ऑफिसर थे. माता रोमा राय शिक्षिका होकर बच्चों का भविष्य गढऩे का काम करती है.

12वीं बाद लॉ की पढ़ाई करने वाली अपराजिता को प्रदेश में उच्चतम अंक लाने पर ताशी नामग्याल एकेडमी द्वारा बेस्ट गर्ल ऑल राउंडर श्रीमति रत्ना प्रधान मेमोरियल ट्रॉफी से सम्मानित किया जा चुका है.

fathers-shadow-raised-from-his-head-not-frustrated-ips-officer-cracked-upsc

#UPSC #IAS #Aparajita Rai

Comment here