General

शासकीय अस्पताल में प्रारंभ होगा आईसीयू वार्ड

icu-ward-will-start-in-government-hospital

शासकीय अस्पताल में प्रारंभ होगा आईसीयू वार्ड | ICU ward will start in government hospital

नागदा। शहर में सात दशक पुराने शासकीय अस्पताल में आईसीयू वार्ड की सुविधा भी मिलेगी। अस्पताल में आईसीयू वार्ड बनकर तैयार हो गया है। आईसीयू वार्ड में कई तरह की आधुनिक मशीनें भी होगी। जिससे मरीजों को उपचार के लिए अब निजी चिकित्सालय या जिला चिकित्सालय नहीं जाना पड़ेगा। इस वार्ड के निर्माण में लगभग 1 करोड़ रु का खर्च होगा।

जिसे वहन एक उद्योग द्वारा सीएसआर फंड के तहत किया जाएगा। आईसीयू वार्ड के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा पलंग, बिस्तर की खरीदी कि जा चूकी है। आईसीयू में 10 मरीजों के एक साथ उपचार की सुविधा होगी। आईसीयू में हार्ट, ब्रेन व सांस की बीमारियों को भी इलाज हो सकेगा। हादसे के शिकार लोगों को समय पर इलाज मिलने से उनकी जान बचाई जा सकेगी।

#सात दशक पुराना अस्पताल

शहर में शासकीय अस्पताल की स्थापना वर्ष 1960 के दशक में हुई थी। आज तक अस्पताल में प्राथमिक उपचार के अलावा किसी प्रकार का उपचार नहीं होता है। वर्तमान में अस्पताल में ईजीसी की भी सुविधा नहीं है। ऐसे में अस्पताल में आने वाले मरीजों को निजी चिकित्सालय या जिला चिकित्सालय में रैफर किया जाता है। जिससे मरीज को आर्थिक नुकसान होता है। नागदा अस्पताल से लगभग 100 से अधिक गांव जुड़े है। प्रतिदिन अस्तपाल में लगभग 400 से 500 मरीज आते है।

बीएमओ डॉ कमल सोलंकी के अनुसार अस्पताल में वार्डो की कमी के चलते डॉ थावरचंद गेहलोत की निधि से एक बड़े हाल का निर्माण अस्पताल परिसर में किया गया था। जिसमें प्रसूताओं को भर्ति करना शुरु कर दिया गया था, ऐसेे में शहर के एक स्थानीय उद्योग ने लगभग एक करोड़ रुपए की लागत से आईसीयू का प्रस्ताव अस्पताल प्रबंधन के समक्ष रखा, जिसको लेकर विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों से स्वीकृति लेने के बाद हरी झंडी दे दी गई।

icu-ward-will-start-in-government-hospital

 

Comment here