Crime News

महिला वन अधिकारी को पहले पीटा और दर्ज हुआ केस

newsmug

बीते 30 जून को तेलंगाना (Telangana) के विधायक कोनेरु कोनप्पा राव के भाई कृष्णा का एक विडियो वायरल हुआ है. जिसमें कृष्णा ग्रामीणों के मारपीट करते हुए दिखाई दे रहे हैं.

यह बात जानें इससे पहले फ्लेस ब्लैक में चलते है. दरअसल अनिता नामक महिला वन अधिकारी (Lady forest officer) है. अनिता और उनके 15 साथियों पर एससी-एसटी एक्ट के अंतर्गत में केस फाइल हुआ है. कारण यह है कि, सरोजा नामक महिला जो कि आदिवासी है उसने अनीता के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट की मानें तो, सरोजा खेत में काम कर रही थी, इसी दौरान अनीता और कुछ अन्य लोग उसके खेत पर जा पहुंचे. उक्त लोग सरोजा के खेत पर पौधा लगाना चाहते थे, लेकिन सरोजा को खेत पर पौधे लगाए जाने की बात पसंद नहीं आई.

हुआ यूं कि अनीता के साथ मौजूदा अधिकारियों ने खेत पर मौजूद आदिवासियों के साथ गाली-गलौच किया. भयभीत होकर जब आदिवासी भागने लगे तो अनीता और उनके साथ मौजूदा लोगों ने उन्हें जूतों से मारा.

इंडियन एक्सप्रेस को दिए गए इंटरव्यू में अनीता ने सरोजा के आरोपों को झूठा कहा है. अनीता का कहना है कि, यह आरोप उन नेताओं की ओर से उन पर जबरन थोपा जा रहा हैं, जिन्होंने उनके ऊपर हमला किया था. सरोजा को भी नेताओं द्वारा गलत केस दर्ज करवाने के लिए प्रताडि़त किया जा रहा है.

चलिए जानते है क्या है पूरा मामला-

तेलंगाना के कागजनगर रेंज के अंतर्गत आने वाले कदंबा रिज़र्व फॉरेस्ट ब्लॉक में पौधे लगाए जाना है. पौधों को लगाए जाने के लिए करीब 20 हेक्टयर भूमि का चयन किया है. उक्त भूमी पर पुलिस के साथ वन अधिकारी इस भूमि की जुताई करने पहुंचे थे.

इसी दौरान सरसाला के ग्राम के कुछ ग्रामीण मौके पर पहुंच गए और विवाद करना शुरु कर दिया. विवाद और भीड़ की अगुवाई कोनेरु कृष्णा राव कर रहे थे. इसी दौरान गाली-गलौज के बीच ही भीड़ ने फॉरेस्ट रेंज ऑफिसर सी अनीता पर आक्रमक हमला कर दिया.

घटना में बुरी तरह घायल अनीता को उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया. टीआरएस विधायक कोनेरु कोनप्पा ने तर्क दिया है कि, उनके भाई कृष्णा हमला करने वाले में शामिल नहीं है.

वह मौके पर विवाद शांत करवाने पहुंचे थे. अनिता द्वारा जारी किए गए बयान में कहा गया है कि व विवाद के दौरान अकेली थीं, उन पर चार हमलावरों ने हमला कर उन्हें डंडे से पीटा. घटना के बाद अनिता ने ठान लिया है कि, वह विवाद वाले स्थान पर दोबारा जाएंगी और पौधारोपण करेंगे.

Comment here