City Update

बेहद शर्मनाक : टॉर्च की रोशनी में हुआ नसबंधी का ऑपरेशन

extremely-embarrassing-sterilization-operation-done-under-flashlight

बेहद शर्मनाक : टॉर्च की रोशनी में हुआ नसबंदी का ऑपरेशन | Extremely embarrassing: sterilization operation done under flashlight

नागदा. उज्जैन जिले का नागदा शासकीय अस्पताल इन दिनों बीमार है. बेहद शर्मनाक बात यह है कि, टॉर्च की रोशनी में नसबंधी में चयनित महिलाओं का ऑपरेशान कर इंजेक्शन लगाया गया. घटना बुधवार शाम की है. दैनिक भास्कर की एक रिपोर्ट की मानें तो बुधवार शाम 4.30 बजे मोबाइल टॉर्च की रोशनी में महिलाओं को इंजेक्शन लगाकर नसबंदी ऑपरेशन किया गया.

इस दौरान एक महिला मोबाइल टॉर्च लेकर खड़ी रही, जिसके बाद नर्स द्वारा चयनित महिला को इंजेक्शन लगाया जा सका. दरअसल बुधवार को शासकीय अस्पताल में विकास खंड स्तर पर नसबंदी मेगा कैंप का शिविर आयोजन किया गया था. इसी दौरान बिजली गुल हो गई.

extremely-embarrassing-sterilization-operation-done-under-flashlight

अस्पताल में बिजली की वैकल्पिक व्यवस्था नहीं होने के कारण महिलाओं को टॉर्च की रोशनी में ऑपरेशन करवाना पड़ा.नसबंधी शिविर में नागदा शहर समेत खाचरौद और उन्हेल क्षेत्र की महिलाएं पहुंची थी. महिलाओं का समूह सुबह 8 बजे ही अस्पताल पहुंच गया.

जिसके बाद जांच प्रक्रिया शाम 4 बजे तक की गई. परेशानी तब खड़ी हुई जब दोपहर 3.30 बजे बिजली गुल हो गई, सरकारी प्रक्रिया पर अमल करते हुए अस्पताल स्टॉफ ने ऑपरेशन की शुरुआत अंधेरे में ही शाम 4.30 बजे कर दी. बिजली गुल होने के दौरान करीब 5-6 महिलाओं के ऑपरेशन किए गए.

मामले में बीएमओ डॉ. कमल सोलंकी का बयान आया है कि, अस्पताल की जनरेटर व सोलर लाइट खराब है. सुधार के लिए रोकस (रोगी कल्याण शाखा) में राशि की कमी है. राशि की कमी को आला अफसरों को बता दिया गया है. नसबंधी के ऑपरेशन अंधेरे में किए जाने जैसी कोई बात नहीं है.

extremely-embarrassing-sterilization-operation-done-under-flashlight

Comment here