Crime News

दिल्ली में हिंसा : मरने की संख्या 20, 150 लोग अस्पताल में भर्ती

delhi-violence-on-caa-complete-update-including-how-many-died-and-how-many-got-injured

दिल्ली में हिंसा : मरने की संख्या 20, 150 लोग अस्पताल में भर्ती

राजधानी दिल्ली में नागरिकता संशोधन  (CAA)  कानून को हटाए जाने के लिए हिंसा हो रही है। बीते 25 फरवरी 2020 की रात तक हिंसा में मरने वाले लोगों की संख्या 13 थी, जो बढ़कर 20 हो गई है।

गुरु तेग बहादुर (GBT) अस्पताल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट सुनील कुमार गौतम ने बताया कि, अस्पताल में पहुंचे घायलों की संख्या 189 हैं जिनमें से 20 लोगों की मौत हो चुकी है।

26 फरवरी 2020 की सुबह अस्पताल प्रबंधन द्वारा जारी किए गए बयान में जानकारी दी गई है कि, चार अन्य मृतकों को अस्पताल लाया गया, कुछ देर बाद ही दो अन्य लोगों को अस्पताल लाया गया, यानी मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। परेशानी यह है कि, मरने वाले लोगों की मौत कैसे हुई? या कहां के रहने वाले थे? हैं कौन?

दूसरी ओर दिल्ली हिंसा में मरने वाले हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल का परिवार राजस्थान में धरने पर बैठा है. परिजनों की मांग है कि, रतन लाल को शहीद का दर्जा दिया जाना चाहिए। मांग पूरी नहीं किए जाने तक परिजन मृतक का अंतिम संस्कार नहीं करेंगें।

दिल्ली में चल रहे हिंसा से आक्रोशित लोगों ने सीएम अरविंद केजरीवाल के घर के बाहर मंगलवार-बुधवार दरमियानी रात धरना दिया था। लोगों ने हिंसा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। सीएम हाउस के बाहर एकत्र हुए लोगों को खदेडऩे में पुलिस ने बड़ी मुश्किल से कामयाबी पाई है।

 

इधर केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने बीती रात त्रञ्जक्च अस्पताल का निरीक्षण कर घायलों के बारे में जानकारी ली। मंत्री ने बताया कि, उन्हें अस्पताल प्रबंधन ने जानकारी दी है कि 150 से अधिक लोग अस्पताल में उपचाररत हैं। 81 लोगों को 24 फरवरी 2020 को वहीं 69 लोगों को 25 फरवरी को भर्ती करवाया गया।

नेशनल सिक्योरिटी एडवाइजर अजित डोभाल ने 25 फरवरी की रात सीलमपुर का निरीक्षण किया था. दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक भी डोभाल के साथ मौजूद थे। इन्होंने नॉर्थ-ईस्ट के साथ मीटिंग भी की थी. दिल्ली में हुई हिंसा के लिए कैबिनेट की बैठक होने वाली है।

दिल्ली के नॉर्थ-ईस्ट इलाके जैसे- जाफराबाद, मौजपुर, चांद बाग, भजनपुरा में बीते तीन दिन से हिंसा के हालात निर्मित है। उक्त इलाकों में दिल्ली पुलिस ने 25 फरवरी की शाम शूट ऐट साइट का आदेश जारी कर दिया था.

दिल्ली के चांदबाग, जाफराबाद, मौजपुर और करावल नगर इलाकों में हालात अधिक खराब होने से कफ्र्यू लगाया गया है। साथ ही दंगाइयों को देखते ही गोली मारने के आदेश प्रभावी किए गए है। दिल्ली पुलिस ने यहां पर धारा 144 लगा दी थी.

दिल्ली पुलिस पीआरओ मंदीप सिंह रंधावा के अनुसार एक दिन पहले प्रेस वार्ता आयोजित कर हिंसा के बारे में अपडेट दिए थे.

रंधावा ने बताया था 11 एफआईआर दर्ज की जा चुकी हैं. उत्पात मचाने वाले कुछ लोग हिरासत में हैं. बाकी लोगों को पकड़ा जाएगा. हिंसाग्रस्त इलाके में ड्रोन से नजर रखी जा रही है। बीजेपी नेता कपिल मिश्रा के बयान की जांच की जा रही है.

delhi-violence-on-caa-complete-update-including-how-many-died-and-how-many-got-injured
CAA के विरोधी पुलिस और कानून का समर्थन करने वालों के ऊपर पत्थर फेंकते हुए. क्रेडिट- रॉयटर्स.

Comment here