Education

Nagda news : भाजपा मंडल अध्यक्ष पर सीएम अतुल की ताजपोशी

cm-atuls-coronation-over-bjp-division-presiden

भाजपा मंडल अध्यक्ष पर सीएम अतुल की ताजपोशी | CM Atul’s coronation over BJP division president | घोषणा होते ही पार्टी में बगावत, मंडल मंत्री ने दिया इस्तीफा

नागदा। गत 15 दिन से भाजपा मंडल अध्यक्ष को लेकर चल रही रसा कशी में एक बार फिर भाजपा के युवा नेता सीएम अतुल ने बाजी मार ली। भाजपा जिला कार्यालय से हुई घोषणा में नागदा नगर मंडल का अध्यक्ष सीएम अतुल को नियुक्त किया गया। अतुल वर्तमान में भाजपा युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष थे।

अतुल की घोषणा होते ही शहर में उनके समर्थकों द्वारा आतिशबाजी कर मिठाई वितरण कि गई। सीएम अतुल का परिवार आरएसएस से जुड़ा रहा है। उनके पिता व स्वयंम संघ में विभिन्न पदों पर रहे है। भाजपा मंडल अध्यक्ष की घोषणा होते ही पार्टी में बगावत प्रारंभ हो गई। भाजपा नगर मंत्री सुनील साहनी व निदर्लीय पार्षद दीनयाल चुकरी ने पार्टी की सक्रिय सदस्यता से इस्तीफा दे दिया।

#संघ व केंद्रीय मंत्री का मिला साथ

36 वर्षीय नवनिर्वाचित मंडल अध्यक्ष अतुल की ताजपोशी में आरएसएस व केंद्रीय मंत्री थावरचंद गेहलोत का महत्वपूर्ण योगदान रहा। अतुल को केंद्रीय मंत्री गेहलोत का समर्थक माना जाता है। अतुल केंद्रीय मंत्री गेहलोत के वार्ड में ही निवास करते है। अतुल बचपन से आरएसएस से जुड़े रहे।

वह संघ में शारिरिक प्रमुख, घोष प्रमुख आदि पदों पर आसीन रहे। लगभग एक दशक से अतुल से भाजपा युवा मोर्चा से जुड़े और दो बार युवा मोर्चा के नगर अध्यक्ष भी रहे। वर्तमान युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष है। अतुल के पिता सीजी मोहन भी आरएसएस के जिला संघ चालक रहे।

#पार्टी में बागवत, दो सदस्यों ने दिया इस्तीफा

मंडल अध्यक्ष की दौड़ में शामिल वर्तमान नगर मंत्री साहनी ने मंडल अध्यक्ष की घोषणा होते ही पार्टी कि सक्रिय सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। उन के साथ निदर्लीय पार्षद दीनदयाल चुकरी ने भी इस्तीफा दिया। साहनी का कहना था कि भाजपा द्वारा पूर्वाचंलवासियों को हर बार दरकिनार किया जाता है।

इस बार पार्टी ने मंडल अध्यक्ष के लिए गाईड लाईन तय कि थी। उस गाईड लाईन से पूर्वाचलवासियों की ओर से एक उम्मीदावार था। कई पार्टी नेताओं ने सहमती भी जताई थी। लेकिन पार्टी आलाकमान ने इस मांग को दरकिनार कर दिया।

#30 हजार पूर्वाचलवासी

औद्योगिक शहर नागदा में लगभग 10 हजार पूर्वाचलवासी परिवार निवास करते है। इस मान से उनकी जनसंख्या लगभग 30 से 35 हजार है। साथ ही लगभग 15 से 18 हजार मतदाता है। वर्तमान में नपा परिषद में 36 में से 7 पार्षद पूर्वाचलवासी है। इन में 5 भाजपा व 2 कांग्रेस के है। प्रत्येक नपा परिषद में आधा दर्जन से अधिक पूर्वाचंलवासी पार्षद चुने जाते है। पूर्वाचंलवासियों को भाजपा का मतदाता माना जाता रहा है।

cm-atuls-coronation-over-bjp-division-presiden

Comment here