बहुत कम लोग जानते होंगे अयोध्या दुनिया की पहली स्मार्ट सिटी थी?

0
13

बहुत कम लोग जानते होंगे अयोध्या दुनिया की पहली स्मार्ट सिटी थी? | Very few people would know that Ayodhya was the world’s first smart city?

मसला अयोध्या 90 के दशक के बच्चे बचपन से सनुते आ रहे हैं. जितनी जानकारी जुटाई जाए कम ही हैं. वाल्मीकी रामायण में उल्लेख मिलता है कि, रामायण काल से महाभारत काल के बीच में अयोध्या दुनिया का सबसे खूबसूरत नगर माना जाता था. दूसरे शब्दों में का जाएं तो रामायण काल में अयोध्या दुनिया की स्मार्ट सिटी थी.

अयोध्या पूर्व में कौशल जनपद की राजधानी हुआ करती थी. वाल्मीकि द्वारा लिखे गए रामायण के बालकांड में लिखा गया है कि, अयोध्या नगरी 12 योजन-लम्बी और 3 योजन चौड़ी थी. बता दें कि, वाल्मीकि कृत रामायण में अयोध्या नगरी के बारे में विस्तृत वर्णन किया गया हैं.

कोसलो नाम मुदित: स्फीतो जनपदो महान।
निविष्ट: सरयूतीरे प्रभूत धनधान्यवान् ॥’-( रामायण 1/5/5)

इसका अर्थ है कि, : सरयू नदी के तट पर संतुष्ट लोगों से भरा पूरा रहवासी इलाक, उत्तरोत्तर उन्नति को प्राप्त कोसल नाम का एक बहुत बड़ा देश था.

अयोध्या नाम नगरी तत्रासील्लोकविश्रुता 7
मनुना मानवेन्द्रेण या पुरी निर्मिता स्वयम् 77 1-5-6

इसका अर्थ है कि, इसी देश में मनुष्यों के पूज्यनीय आदिराजा महाराज मनु की बसाई बस्ती तथा तीनों लोकों में प्रसिद्ध अयोध्या नामक की एक नगरी थी.

आयता दश च द्वे च योजनानि महापुरी 7
श्रीमती त्रीणि विस्तीर्णा सुविभक्ता महापथा 77 1-5-7

इसका अर्थ है कि, अयोध्या नगर की लंबाई 12 योजन (96 मील) चौड़ी थी.

महर्षि वाल्मीकि द्वारा रचित रामायण में उल्लेख मिलता है, कि अयोध्या में महिलाओं की नाट्य समितियां हुआ करती थी. इस देश में विभिन्न स्थानों पर उद्यान निर्मित थे. क्षेत्र में आज भी प्रसिद्ध आम के बगीचे उन दिनों में अयोध्या नगरी की शोभा बढ़ाने में सहायक थे. अयोध्या के चारों ओर साखुओं के लंबे-लंबे वृक्ष लगे थे.

संदर्भ : वाल्मीकि रामायण

ayodhya-special-ayodhya-smart-nagari

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here